लखनऊ : लोकसभा चुनाव से पूर्व उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन तय हो गया है, जिसका औपचारिक ऐलान शनिवार को होगा। अखिलेश यादव और मायावती एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। हालांकि इससे पहले राष्ट्रीय लोकदल प्रमुख अजित सिंह भी एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करेंगे। माना जा रहा है कि अजित सिंह गठबंधन के तहत अपनी पार्टी को मिलने वाली सीट से संतुष्ट नहीं है।

जानकारी के अनुसार, अजित सिंह शनिवार को अखिलेश यादव और मायावती से पहले मथुरा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। गोवर्थन पैलेस में होने जा रही इस प्रेसवार्ता में अजित सिंह गठबंधन से जुड़ी कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं।

सीटों की संख्या से संतुष्ट नहीं हैं अजित सिंह

उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन में जहां कांग्रेस बाहर हो चुकी है, वहीं रालोद को दो सीट देने पर सहमति बनी है। हालांकि अजित सिंह दो सीट से संतुष्ट नहीं हैं। वह कम से कम 6 सीट चाहते हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश जाट बहूल्य इलाका माना जाता है, जहां अजित सिंह का दबदबा है।

रालोद का जाट वोट बैंक है, जो 12 जिलों की 60 विधानसभा सीटों पर उलटफेर करने में सक्षम है। हालांकि 2014 में रालोद को एक भी सीट पर जीत नहीं मिली थी।

नहीं मिला प्रेस कॉन्फ्रेंस का न्यौता

सपा-बसपा महागठबंधन की शनिवार को होने वाली साझा प्रेस कांफ्रेस के लिये अभी तक गठबंधन के एक अन्य दल राष्ट्रीय लोकदल को इसमें शामिल होने का न्यौंता नहीं मिला है। हालांकि पार्टी के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी कल राजधानी लखनऊ में रहेंगे और संभवत: दोनों नेताओं से बाद में मुलाकात भी कर सकते हैं। लेकिन राष्ट्रीय लोकदल ने छह सीटों की मांग की है जबकि सूत्रों के अनुसार महागठबंधन द्वारा दो से तीन सीटे देने की बात चल रही है।

यह भी पढ़ें :

सपा-बसपा गठबंधन : जानिए किस पार्टी के खाते में जाएगी कौन सी सीट !

कांग्रेस के लिए बेहद ‘भाग्यशाली’ साबित होगा सपा-बसपा गठबंधन, जानिए कैसे

रालोद के प्रदेश अध्यक्ष मसूद अहमद ने बताया कि पार्टी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी कल शनिवार को लखनऊ आ रहे है, लेकिन अभी तक उन्हें महागठबंधन के नेताओं की साझा प्रेस कांफ्रेस में आने का न्यौता नहीं मिला है। अगर न्यौता मिलता है तो वह प्रेस कांफ्रेस में जरूर जायेंगे।

सूत्रों के अनुसार, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के इस महागठबंधन में रालोद को दो से तीन लोकसभा सीटे देने पर विचार किया जा सकता है। मंगलवार को रालोद के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से उनके कार्यालय में मुलाकात भी की थी