नई दिल्ली: राहुल गांधी एक बार राफेल डील पर बोलते हुए सरकार के खिलाफ आक्रामक नजर आए। उन्होंने आरोप लगाया कि सदन में बोलते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उन्हें गाली दी। राहुल के मुताबिक डील की जिन बिंदुओं पर कांग्रेस पार्टी ने सवाल खड़े किए थे। उसको लेकर सरकार की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बहस से बचने का आरोप लगाया।

राहुल गांधी ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, "कांग्रेस एवं समूचा विपक्ष रक्षा मंत्री से राफेल पर प्रश्नों के जवाब चाहता है, हमें बताएं कि क्या फाइल में नये सौदे पर आपत्तियां उठाई गई थीं। मुझ पर अंगुली उठाने की बजाए, वित्त मंत्री अरुण जेटली को राफेल पर उन सवालों के जवाब देने चाहिए जो हमने उठाए हैं। कांग्रेस अगर सत्ता में आई तो राफेल मामले की आपराधिक जांच होगी और दोषियों को सजा दिलवाई जाएगी"

यह भी पढ़ें:

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर कहा चोर, दी ये चुनौती

राहुल के मुताबिक दसाल्ट कंपनी के आंतरिक ईमेल में खुलासा हुआ कि भारत सरकार ने ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट सिर्फ अनिल अंबानी को देने पर दबाव बनाया था। इस ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट के तहत पीएम मोदी ने अपने दोस्त अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ का फायदा दिलाने की कोशिश की।

वहीं नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया कि राफेल डील को लेकर केंद्र सरकार ने जो हलफनामा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया था उसमें तथ्यों के आधार पर झूठ बोला गया। खड़के केंद्र पर सुप्रीम कोर्ट और जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया। इसके साथ ही उन्होंने मामले में जेपीसी की जांच की मांग उठाई।