पटना : बिहार में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गयी है। एनडीए के बाद अब महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर जद्दोजहद जोरों पर है। इसी क्रम में आज का दिन यानी शनीवार को बिहार की राजनीति के लिए बेहद खास होने वाला है। बताया जा रहा है कि रांची में लालू यादव की मौजूदगी में महागठबंधन की सीटों के बंटवारे पर अंतिम मुहर लगने की संभावना है।

मिली जानकारी के मुताबिक, महागठबंधन के घटक दल के नेता रांची पहुंच गये हैं। शुक्रवार दोपहर बाद तेजस्वी यादव के साथ मुकेश सहनी रांची पहुंचे। उसके बाद देर शाम रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा और नागमणि भी रांची पहुंच गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, तेजस्वी यादव और उपेंद्र कुशवाहा शनिवार को रांची स्थित रिम्स अस्पताल में लालू यादव से मुलाकात करेंगे। लालू से मुलाकात से पहले तेजस्वी यादव सहयोगी दलों के नेताओं के साथ एक बैठक होगी और एक ठोस सूची को लेकर फिर लालू यादव के सामने अंतिम फैसला लिया जायेगा।

इसे भी पढ़ें :

आखिर बिहार में भाजपा को नीतीश के साथ क्यों करना पड़ा इतना बड़ा समझौता, यह है वजह

तेजस्वी ने सीएम नीतीश पर लगाया आरोप- कहा- मेरे घर की जासूसी करा रहे

राजद के सूत्रों का कहना है कि सीटों की पहचान का काम भी लगभग पूरा हो गया है बस इस पर लालू यादव की अंतिम मुहर लगनी बाकी है। बताया जा रहा है कि लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) के राष्ट्रीय संरक्षक शरद यादव भी लालू यादव से मिलने रांची पहुंचने वाले थे, लेकिन किसी कारणवश उनका कार्यक्रम रद्द हो गया है।

तेजस्वी यादव ने केंद्र और राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि चाहे केंद्र की सरकार हो, बिहार सरकार हो या झारखंड सरकार हो किसी सरकार ने जनता से किये वायदे को पूरा नहीं किया है। तेजस्वी ने तंज कसते हुए कहा कि अच्छे दिन केवल भाजपा के नेताओं का आया है।

वहीं, महागठबंधन में अनंत सिंह की एंट्री के सवाल पर तेजस्वी ने कहा 'बैड एलिमेंट' के लिए महागठबंधन में कोई जगह नहीं है। उन्होंने साफ कहा कि किसी के कुछ बोलने से कुछ फर्क नहीं पड़ता है।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही तेज प्रताप यादव ने पिता से मुलाकात की थी और पार्टी सहित परिवार को लेकर चर्चा की थी। इसी दिन भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के अलावा, कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय और जेएमएम नेता हेमंत सोरेन ने लालू यादव से मुलाकात की थी।

मालुम हो लालू यादव चारा घोटाला में सजायाफ्ता हैं और तबीयत खराब रहने की वजह से उनका रांची के रिम्स में इलाज चल रहा है। पिछले पखवारे में उनकी तबीयत कुछ ज्यादा बिगड़ गयी थी। हालांकि, अब उनकी तबीयत पहले से बेहतर और स्थिर बतायी जा रही है।