भोपाल: कमलनाथ कैबिनेट का गठन हो चुका है लेकिन विभागों का बंटवारा अभी तक नहीं हो पाया है लेकिन इस बंटवारे से पहले ही कांग्रेस में हड़कंप मचा हुआ है। दरअसल मामला यह है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को शिवपुरी से विधायक केपी सिंह के समर्थकों ने जान से मारने की धमकी दी है। यह धमकी सोशल मीडिया पर दी गई है। इसके पीछे की वजह यह है कि कुछ विधायको के समर्थक उनके मंत्री ना बनाए जाने से नाराज है।

क्या है पोस्ट में ?

सिंधिया को मिली धमकी शिवपुरी के अरनव प्रताप सिंह चौहान नाम के एक शख्स ने दी है। अरनव ने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर सिंधिया को धमकी देते हुए पिछोर आने पर बैन लगा दिया है। फेसबुक पर केपी सिंह समर्थक अरनाव प्रताप सिंह चौहान ने लिखा है कि 'पिछोर विधानसभा क्षेत्र में सिंधिया पर बैन, भूल से भी पिछोर विधानसभा से गुजरने की गलती ना करें महाराज हो कौन हो, कक्काजू जिंदाबाद। ''इस धमकी के साथ अरनव ने अपनी हाथ में गन लिए वाली फोटो लगाई है।

इसे भी पढ़ें MP सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया यह संकल्प

विधायक चुने जाने के बाद 5 सांसदों ने दिया इस्तीफा

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ मेंं हुए विधानसभा चुनावों में अपने-अपने क्षेत्रों से विधायक चुने जाने के बाद पांच सांसदों ने इस्तीफा दे दिया है। इसमें से बीजेपी के तीनऔर कांग्रेस के दो सांसदशामिल हैं। लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सभी पांच सांसदों का इस्तीफा मंजूर कर लिया है।

बता दें कि हाल ही में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए जिसमें से मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने जीत हासिल की। इन चुनावों में पांच सांसदों ने विधायक के तौर पर चुनाव लड़ा था। जिसमें मध्यप्रदेश से बीजेपी केनागेन्द्र सिंहऔर मनोहर ऊंटवाल ने जीत हासिल की और कांग्रेस से रघुशर्मा राजस्थान से और ताम्रध्वज साहू छत्तीसगढ़ से विधायक चुने गए हैं।