वो स्कूल जहां से निकले सियासत के धाकड़ खिलाड़ी, ऐसे कराएं अपने बच्चे का एडमिशन 

डिजाइन फोटो। - Sakshi Samachar

देहरादून : देश ही नहीं बल्कि दुनिया का प्रतिष्ठित स्कूलों में से एक दून स्कूल इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल ऐसा पहली बार हुआ है कि इस स्कूल में पढ़ने वाले तीन होनहार स्टूडेंट आज अलग- अलग राज्यों में सत्ता की कमान संभाले हुए हैं। वर्तमान में एमपी के सीएम कमलनाथ और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक अपने - अपने राज्यों के सीएम पद पर काबिज हैं। मजेदार बात यह भी है कि कैप्टन अमरिंदर और नवीन दोनों कमलनाथ के सीनियर रह चुके हैं।

एमपी के नए सीएम बने कमलनाथ

1964 बैच स्टूडेंट के कमलनाथ को मध्य प्रदेश का सीएम बनाया गया है।सीएम की रेस में कमला कमलनाथ के साथ सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का इस पद के दावेदारों मे शामिल था। खास बात यह है कि सिंधिया भी इसी स्कूल के पूर्व छात्र रह चुके हैं।

राजीव गांधी भी कर चुके इसी स्कूल से पढ़ाई

इसके अलावा दून ने देश को एक प्रधानमंत्री भी दिया है। जी हां हम बात कर रहे है पूर्व पीएम राजीवगांधी भी इसी स्कूल से अपनी शुरुआती पढ़ाई की थी। कमलनाथ और संजय गांधी इसी दून स्कूल में एक साथ पढ़ा करते थे। इसी वजह से बचपन से ही कमलनाथ गांधी परिवार के काफी करीबी रहे हैं। बता दें कि नेताओं के अलावा इस प्रतिष्ठित स्कूल ने कई पत्रकार, ब्यूक्रेट्स, डिप्लोमेट्स, सिविल सर्वेंट्स, राइटर्स समेत दूसरे पेशेवर देश-दुनिया को दिए हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह

महाराजा यादविंदर सिंह के बेटे कैप्टन अमरिंदर सिंह जो कि पंजाब के मौजूदा मुख्यमंत्री हैं, ने भी देहरादून के वेल्हम बॉयज स्कूल और दून स्कूल से पढ़ाई की। अमरिंदर दून स्कूल के टाटा हाउस हॉस्टल में रहते थे, जहां पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर भी रह चुके थे। कांग्रेस नेता मणिशंकर समेत आरपीएन सिंह और जतिन प्रसाद भी दून के एल्युमनाई रह चुके हैं।

कमलनाथ के सीनियर रह चुके हैं नवीन पटनायक

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक 1963 बैच के स्टूडेंट थे। वे कमलनाथ से एक साल सीनियर रह चुके हैं। सीएम के पद पर काबिज नवीन राज्य में 14वें मुख्यमंत्री हैं। बता दें कि नवीन के पिता बीजू पटनायक भी दो बार ओडिशा के मुख्यमंत्री रह चुके हैं।

द दून में एडमिशन कराने की यह प्रक्रिया

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका बच्चा भी दून जैसे देश के प्रतिष्ठित स्कूल में पढ़ाई कर अपना और अपने घरवालों का नाम रोशन करें। तो इसके लिए आपको अपने बच्चे का एडमिशन दून स्कूल में कराना होगा। जिसके लिए अभिभावकों को एडमिश की प्रक्रिया से गुजरना होगा। सारी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद आपका बच्चा दून में दाखिल पाने में सफल होगा। आपको बता दें कि प्रसिद्ध 'द दून स्कूल' में एडमिशन कराने के लिए आवेदन ऑनलाइन लिए जाते हैं। ऑनलाइन आवेदन के बाद रजिस्ट्रेशन फीस जमा करानी होती है। जिसके बाद लिखित परीक्षा देनी होती है। जिसके बाद एडमिशन प्रोसेस शुरू की जाती है।

Advertisement
Back to Top