रामविलास पासवान और चिराग ने की अमित शाह से मुलाकात

फाइल फोटो - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : 2019 के लोक सभा चुनाव से पहले दिल्ली के सियासी गलियारों में हलचल मची हुई है। लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान के बयानों ने भाजपा-लोजपा के रिश्तों में खटास को सामने लाकर रख दिया है। चिराग ने ट्वीट कर पार्टी की नाराजगी का संकेत दिया था। इसी बीच लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने बडा बयान दिया है।

उन्होंने कहा कि बिहार में सीट शेयरिंग को लेकर कोई नाराजगी नहीं है। पासवान ने कहा कि चिराग पासवान संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष है वही इस मामले में बात करेंगे।


इसे भी पढ़ें :

शाह से मिले रामविलास और चिराग, SC-ST एक्ट पर अध्यादेश लाने की मांग की

बता दें कि चिराग पासवान ने ट्वीट कर राहुल गांधी की जमकर तारीफ की थी। इससे कयास लगने लगा कि पासवान एक बार फिर चुनाव से पहले पाला बदल सकते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा को अपने सहयोगियों को एकजुट रखने के प्रयास करने होंगे। क्योंकि हाल ही में रालोसपा और टीडीपी जैसे दल एनडीए से अलग हो गए हैं।

दूसरे ट्वीट में चिराग ने लिखा कि गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भारतीय जनता पार्टी के नेताओ से मुलाकात हुई परंतु अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पाई है। इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुक़सान भी हो सकता है। उनके इस ट्वीट के बाद भाजपा हरकत में आ गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली में रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से आज शाम मुलाकात करेंगे। नए सियासी माहौल में इस मुलाकात को बेहद अहम बताया जा रहा है।

Advertisement
Back to Top