योगी ने बुलंदशहर हिंसा को बताया सियासी साजिश, इन लोगों का बताया हाथ

सीएम योगी आदित्यनाथ  - Sakshi Samachar

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर हिंसा मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजनीतिक साजिश करार देते हुए इस मामले में सरकार द्वारा की गई कार्यवाई की सराहना की है। उन्होंने कहा कि कहा कि इस मामले में सरकार ने जो कदम उठाए हैं, उसके लिए सरकार की सराहना होनी चाहिए।

साथ ही सीएम योगी ने कहा कि उनकी सरकार इस साजिश को बेनकाब करने में सफल रही है। गौरतलब है कि बुलंदशहर में गोकशी के शक के बाद फैली हिंसा में इंस्पेक्टर सहित दो लोगों की हत्या कर दी गई थी।

सीएम योगी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, 'बुलंदशहर की घटना एक साजिश थी और जिसका पर्दाफाश हो चुका है। सीएम योगी ने कहा कि, यह साजिश वही लोग कर रहे हैं, जिन लोगों ने प्रदेश में जहरीली शराब बनाकर, यहां के लोगों को मारने का प्रयास किया था। उन्होंने कहा यह एक बहुत बड़ा राजनीतिक षड़यंत्र था और ये षड़यंत्र वही लोग करते हैं जो कायर होते हैं।

इसके अलावा सीएम योगी ने षड़यंत्रकारियों पर हमला करते हुए कहा, वह 'निर्दोष लोगों को अपनी साजिश का शिकार बनाना चाहते हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ऐसी किसी भी साजिश को कामयाब नहीं होने देगी। उन्होंने कहा कि ऐसे में कानून सख्ती के साथ ऐसे लोगों से निपटेगा और निपट रहा है।

बुलंदशहर की घटना में शासन और प्रशासन दोनों सख्ती से पेश आई हैं। कानून के दायरे में रहकर प्रदेश सरकार ने एक बड़ी साजिश को बेनकाब किया है। सीएम योगी ने बिना किसी का नाम लिए कहा, वे लोग दंगा कराना चाहते थे, गोकशी करके अराजकता फैलाना चाहते थे।

इसे भी पढ़ेंः

राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश की फिर उठी मांग, राम माधव का बड़ा बयान

बुलंदशहर हिंसा को लेकर हो रही बयानबाजी पर सीएम योगी ने निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग इसको लेकर बयानबाजी कर रहे हैं वे अपनी विफलताओं को छुपा रहे हैं। आपको बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने पहले भी बुलंदशहर हिंसा को 'एक दुर्घटना' बताया था। जिसके बाद उनके इस बयान को लेकर काफी आलोचना भी की गई थी।

यह है पूरा मामला

बीते 3 दिसंबर को बुलंदशहर में गोकशी के आरोप के बाद हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में स्याना इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सहित एक अन्य युवक की मौत हो गई थी। इस घटना के आरोप में पुलिस ने 27 लोगों के खिलाफ नामजद और 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। पुलिस अब तक 20 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

मंगलवार को वायरल विडियो के आधार पर भगवानपुर निवासी सचिन उर्फ कोबरा तथा चिंगरावठी निवासी जॉनी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। हिंसा का मुख्य आरोपी और बजरंग दल का नेता योगेश राज अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर चल रहा है।

Advertisement
Back to Top