नई दिल्ली: बिहार और उत्तरप्रदेश के लोगों के कारण मध्य प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ने संबंधी मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर तीखा प्रहार करते हुए भाजपा ने मंगलवार को कहा कि यह कांग्रेस के दोहरे चरित्र एवं विभाजनकारी चेहरे को दर्शाता है। भाजपा ने कहा कि बिहार एवं उत्तरप्रदेश के मेहनतकश लोग देश की समृद्धि में योगदान देते हैं । भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि कमलनाथ का जन्म तो कानपुर में हुआ है, ऐसे में उन्हें इस तरह के बयान नहीं देने चाहिए ।

उन्होंने कहा कि बिहार, उत्तरप्रदेश के लोगों का उद्योग चलाने समेत अन्य क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान है । लेकिन कांग्रेस का यह दोहरा चरित्र रहा है.. वह कहती कुछ है, करती कुछ और है । विजयवर्गीय ने कहा कि इस तरह के समाज को बांटने वाले बयान देने की बजाय कमलनाथ को जनता के कल्याण पर ध्यान देना चाहिए ।

कमलनाथ की आलोचना करते हुए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि उन्हें संभवत: मौजूदा नियमों की जानकारी नहीं जो स्थानीय आबादी को नौकरियों में प्राथमिकता देता है। भाजपा नेता और मध्य प्रदेश से लोकसभा सांसद ने संवाददाताओं को बताया, ''वह केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं। वह जो कह रहे हैं वह पहले से ही उपलब्ध है...ऐसे दावे करके वह लोगों को गुमराह कर रहे हैं।''

से भी पढ़ें : कमलनाथ का भी रहा है दंगे से कनेक्शन, अब बचाव के लिए दी जा रही है ऐसी दलील

भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी की मांग की है। उन्होंने कहा, वे (उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग) अपने कठिन परिश्रम से राज्य की प्रगति में योगदान देते हैं। कमलनाथ को जवाब देना चाहिए कि भारत एक संघीय ढांचा है या नहीं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों से माफी मांगनी चाहिए।''

उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडे ने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का यह बयान कांग्रेस के दोहरे चरित्र एवं विभाजनकारी चेहरे को दर्शाता है। कांग्रेस टुकड़ों की राजनीति करती है जबकि भाजपा समग्रता की राजनीति करती है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों के बारे में कमलनाथ का बयान इन राज्यों के कर्मठ लोगों के पुरूषार्थ को ठेस पहुंचाता है।

उत्तर प्रदेश, बिहार के लोगों का राष्ट्र निर्माण में अहम योगदान है । बिहार से भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि बिहार, उत्तरप्रदेश के लोगों का राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान रहा है । यहां के लोगों विभिन्न राज्यों एवं देश के स्तर पर महत्वपूर्ण पदों पर योगदान दे रहे हैं । यहां के मेहनतकश लोगों के योगदान की सभी को सराहना करनी चाहिए ।

उन्होंने कहा कि बिहार, उत्तर प्रदेश देश से अलग नहीं है। इसी प्रकार से मध्य प्रदेश के लोगों का भी राष्ट्र निर्माण में अहम योगदान है । इसी समग्र भाव से राष्ट्र प्रगति के पथ पर आगे बढ़ता है, यह सभी को समझने की जरूरत है। उल्लेखनीय है कि खबरों के अनुसार, कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद सोमवार को कहा था कि मध्यप्रदेश में ऐसे उद्योगों को छूट दी जायेगी जिनमें 70 प्रतिशत नौकरी मध्य प्रदेश के लोगों को दी जायेगी । उन्होंने कहा था कि बिहार, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों के लोगों के कारण मध्य प्रदेश में स्थानीय लोगों को नौकरी नहीं मिल पाती है ।