भोपाल : मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने सरकार बनाने के दावे का पत्र बुधवार को राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को सौंप दिया।

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ, प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व अध्यक्ष सुरेश पचौरी, सांसद विवेक तन्खा का प्रतिनिधिमंडल राजभवन पहुंचा। प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल आनंदी बेन से मुलाकात कर सरकार बनाने के लिए आवश्यक समर्थन होने का पत्र सौंपा।

कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने बुधवार को संवाददाताओं से चर्चा के दौरान कहा कि कांग्रेस बहुमत के साथ सरकार बना रही है। निर्दलीय, बसपा और सपा का साथ कांग्रेस के साथ है इसलिए कांग्रेस बहुमत की सरकार बनाने वाली है।

गौरतलब है कि राज्य में 230 विधानसभा सीटें है और बहुमत के लिए 116 विधायकों की जरूरत है। कांग्रेस के खाते में 114 सीटें आई हैं। चार निर्दलीय, बसपा के दो और सपा के एक विधायक के समर्थन का कांग्रेस दावा कर रही है। इस तरह कांग्रेस के पास 121 विधायकों का समर्थन है।

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश विधानसभा चुनाव में मंगलवार को कांग्रेस के सबसे बड़ी पार्टी उभरकर आने की संभावना के मद्देनजर और निर्दलीयों के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश किया है।

इसे भी पढ़ें : कमलनाथ बोले : मतगणना में निष्पक्ष रहें अफसर, 11 के बाद 12 दिसंबर भी आएगा

दावा पत्र में कमलनाथ ने लिखा है, ‘‘कांग्रेस पार्टी विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी हैै। इसके अलावा कांग्रेस को सभी निर्दलियों का भी समर्थन हासिल है।''