नई दिल्ली / जयपुर: राजस्थान विधानसभा चुनावों के नतीजों पर गौर करें तो कांग्रेस पार्टी स्पष्ट बहुमत की ओर जा रही है। वहीं बीजेपी के हाथ से सत्ता लगभग खिसक चुकी है।

इस बार खास बात ये है कि राजस्थान में करीब एक दर्जन से अधिक सीटों पर निर्दलियों के बाजी मारने के आसार हैं। ऐसे में निर्दलियों को अपने पाले में लाने के लिए अभी से कांग्रेस के कद्दावर नेता लॉबिंग करने में जुट गए हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक खुद सचिन पायलट जीतने वाले निर्दलीय नेताओं के संपर्क में हैं। नतीजों के मुताबिक बसपा और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक मोर्चे का प्रदर्शन भी राजस्थान में उम्दा रहा है।

यह भी पढ़ें:

कांग्रेस को महंगी पड़ी चंद्रबाबू से दोस्ती, नहीं बचा पाई तेलंगाना में अपना जनाधार

राजस्थान कांग्रेस में सबसे खास बात ये है कि पार्टी में अभी तक सीएम कैंडिडेट को लेकर नाम तय नहीं हुआ है। सचिन पायलट एक तरफ जहां ताल ठोंक रहे हैं। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी सीएम पद के लिए प्रबल दावेदार माने जाते हैं। ऐसे में आलाकमान की भूमिका काफी अहम हो जाती है।