नई दिल्ली : मिजोरम विधानसभा चुनाव में बुधवार को 75 फीसदी मतदाताओं ने वोट दिया। चुनाव उपायुक्त सुदीप जैन ने यहां इस बाबत जानकारी दी। पूर्वोत्तर राज्य में सभी 40 विधानसभा सीटों पर मतदान हुआ। 40 सदस्यीय विधानसभा का चुनाव बुधवार को शांतिपूर्ण सम्पन्न हो गया।

राज्य में 7,70,395 मतदाता हैं जिनमें 3,94,897 महिला मतदाता भी शामिल हैं। चुनावी मुकाबले में 209 प्रत्याशी मैदान में है जिनमें से 15 महिलाएं हैं। कुल 1,179 मतदान केंद्रों में से 47 ‘संवेदनशील' हैं और इतने ही ‘अति संवेदनशील' हैं।

मिजोरम विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने वाले 108 वर्षीय रोचिंगा सबसे बुजुर्ग मतदाता थे।

इसे भी पढ़ें :

मिजोरम में 71 तो मध्य प्रदेश में 65.5 प्रतिशत हुआ मतदान

राज्य विधानसभा चुनाव में 96,104 और 106 वर्ष की आयु वाले बुजुर्गों ने भी मतदान किया रोचिंगा, प्रेसबाइटेरियन गिरजाघर के सबसे बुजुर्ग सदस्य हैं और आइजोल पूर्वी-I विधानसभा क्षेत्र के रहने वाले हैं। वह अपने एक पड़ोसी के साथ लाठी टेकते हुए मतदान केन्द्र पहुंचे थे।

रोचिंगा ने कहा, ‘‘मैं कभी चुनाव में मतदान करना नहीं भूलता। यह हमारा कर्तव्य है। अगर हम अपने कर्तव्य को पूरा करने में नाकाम रहते हैं तो फिर अगर सरकार भी अपना कर्तव्य नहीं निभायेगी तो हम कैसे सवाल उठा सकते हैं?'' उनके पड़ोसी ने कहा कि रोचिंगा की राजनीतिक गतिविधियों में बहुत रुचि रही है।

106 वर्षीय दर्रोहनुनी ने मिजोरम-त्रिपुरा सीमा से सटे हाछेक सीट के अंतर्गत कवर्थाह मतदान केन्द्र-III में अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। वह दूसरे सबसे उम्रदराज मतदाता हैं। गर्म कपड़े पहने दर्रोहनुनी अपनी पोती के साथ व्हीलचेयर पर आये थे।

लुंगलेई चानमारी की रहने वाली 104 वर्षीय एईजिकी ने भी मिजोरम में अगली सरकार के चयन के लिये मतदान किया। एईजिकी भी लाठी के सहारे आयी थीं।

सुदूर दक्षिण मिजोरम के सियाहा सीट पर 96 वर्षीय नुछुंगी और सरछिप छिम वेंग मतदान केन्द्र पर दरलियांजिंगी (90) ने बुधवार अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।