RSS नेता ने सुप्रीम कोर्ट के जजों पर बोला हमला, कहा- संविधान जजों की बपौती नहीं

RSS नेता इंद्रेश कुमार एवं सुप्रीम कोर्ट(फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

चंडीगढ़ः लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा एक बार फिर से गर्माता जा रहा है। देश की सर्वोच्च अदालत में सुनवाई में हो रही देरी को लेकर लेकर कई हिंदू संगठनों ने अपनी नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं।

इसी कड़ी में मंगलवार को आरएसएस सदस्य इंद्रेश कुमार ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई को लेकर एक बयान दिया है। जिसमें उन्होंने कहा कि, ''भारत का संविधान जजों की बपौती नहीं है, क्या वो कानून से भी ऊपर हैं।'' आपको बता दें कि इंद्रेश कुमार चंडीगढ़ में पंजाब युनिवर्सिटी में आयोजित 'जन्मभूमि से अन्याय क्यों' एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।

इंद्रेश कुमार ने कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि राम जन्म स्थान बदलने की इजाजत क्यों दी गई। उन्होंने कहा जब वेटिकन, काबा और स्वर्ण मंदिर नहीं बदले जा सकते तो राम जन्मभूमि कैसे बदली जा सकती है।

इसे भी पढ़ेंः

दिल का दौरा पड़ने से बाल साई बाबा का निधन

आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने अयोध्या में राम मंदिर तोड़ कर मस्जित बनाई गई और वहां कभी भी कोई मस्जिद थी ही नहीं।

गौरतलब है कि रामजन्म भूमि- बाबरी मस्जिद विवाद की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। सुप्रीम कोर्ट ने अक्टूबर में इस मामले की सुनवाई करते हुए इसे जनवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है।

Advertisement
Back to Top