जयपुर : राजस्थान विधानसभा के चुनावी रण में कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियां ताल ठोककर आमने-सामने हैं। भाजपा जहां दोबारा वापसी के लिए हर दांव चल रही है, वहीं कांग्रेस सोशल मीडिया पर मिल रही सकारात्मक प्रतिक्रियाओं और प्रदेश में चल रही 'एंटी इंकम्बेंसी' का पूरा फायदा उठा रही है। इसी बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने रविवार को चुनावी रणनीति के तहत दो अभियानों की शुरुआत की।

'विजयी भव राजस्थान' और 'झूठ पर चोट सच को वोट' नामक दोनों अभियान चुनाव के अंतिम दिनों में कांग्रेस का आखिरी दांव है।

मीडिया से बातचीत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि 'विजयी भव राजस्थान' और 'झूठ पर चोट, सच को वोट' अभियान कांग्रेस पार्टी के पहले से चल रहे अभियान 'राजस्थान का रिपोर्ट कार्ड' और 'जन घोषणापत्र राजस्थान' का विस्तार है, जो सोशल मीडिया और जमीनी स्तर पर सार्वजनिक भागीदारी और जुड़ाव के मद्देनजर काफी सफल रहे हैं।

सचिन ने बताया कि 'विजयी भव राजस्थान' एक सकारात्मक अभियान है, जो राजस्थान के लोगों द्वारा उनकी उत्साही मनोदशा को बताता है। उन्होंने इस मौके पर विजयी गीत भी लॉन्च किया जो इसी अभियान का हिस्सा है।

ह भी पढ़ें :

राजस्थान चुनाव 2018 : कौन बनेगा सरदारपुरा का ‘सरदार’

अजमेर शरीफ के बाद पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर पहुंचे राहुल, पूजा में बताया अपना गोत्र

अपने दूसरे अभियान 'झूठ पर चोट सच को वोट' पर सचिन ने कहा, "यह अभियान राजस्थान के लोगों द्वारा उनकी मतदान शक्ति से भाजपा के घोषणाओं में किए हर झूठ और जुमलों पर अंतिम हमला होगा।"

बहरहाल, कांग्रेस का कहना है कि ये दोनों अभियान राजस्थान की जनता की वर्तमान मनोदशा के अनुरूप हैं। सोशल मीडिया पर कांग्रेस के अभियानों को मिल रही प्रतिक्रिया के बाद पार्टी राज्य में वापसी को लेकर काफी उत्साहित नजर आ रही है और मैदान में हर कदम पूरी तयारी के साथ रखती दिख रही है।

राज्य में सियासी पारा पूरे चढ़ाव पर है। राजस्थान विधानसभा चुनाव के इस रोचक मुकाबले में जनता का दिल जीतने में कौन-सी पार्टी बाजी मारेगी, यह तो समय ही बताएगा।