आइजोल : कांग्रेस ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी पर ईसाई विरोधी पार्टी होने का आरोप लगाया और कहा कि राज्य में 28 नवंबर को चुनाव के बाद भाजपा ईसाई बहुल मिजोरम में ‘पिछले दरवाजे के जरिए' प्रवेश का प्रयास कर रही है।

वर्ष 2011 में हुई जनगणना के मुताबिक, मिजोरम की करीब 87 प्रतिशत आबादी ईसाई हैं। पूर्वोत्तर में मिजोरम एकमात्र राज्य है जहां कांग्रेस सत्ता में है। कांग्रेस महासचिव लुइजिन्हो फलेरो ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘भाजपा अल्पसंख्यकों और ईसाईयों के खिलाफ है... पार्टी ईसाईयों और अन्य अल्पसंख्यकों के खिलाफ असहिष्णु और नफरत की भावना रखती है।''

उन्होंने पूछा कि भाजपा ने सुशासन दिवस मनाने के लिए 25 दिसंबर का दिन क्यों चुना जब यह इसके शासन के तहत मिजोरम में अगला क्रिसमस मनाना चाहती है।

इसे भी पढ़ें :

मिजोरम में कांग्रेस को सता रहा है ‘खरीद-फरोख्त’ का डर, भाजपा पर लगा रही आरोप

ब्रू शरणार्थियों के 32 परिवार मिजोरम में वोट दे सकते हैं : गृह मंत्रालय

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के यहां पिछले महीने एक रैली में उस बयान की याद दिलाई जिसमें उन्होंने कहा था, ‘‘वह भरोसा दिलाना चाहते हैं कि भाजपा सरकार के अन्तर्गत मिजोरम में क्रिसमस मनाया जाएगा।''

2014 में भाजपा की अगुवाई वाली केन्द्र सरकार ने 25 दिसंबर को क्रिसमस समारोहों का दिन राष्ट्रीय सुशासन दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन भी है।