रायपुर : छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में जीत के लिए सभी पार्टियां जोर लगा रही है। इसी क्रम में गुरुवार को छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नेताओं ने हाथ में गंगा लेकर कर्जमाफी का वादा किया। कांग्रेस नेताओं ने हाथ में गंगाजल लेकर कसम खाई कि अगर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो 10 दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा।

इससे पहले कांग्रेस ने अपनी पार्टी घोषणापत्र में भी इस बात का हवाला दिया है कि यदि पार्टी सत्ता में आई तो सबसे पहले किसानों का कर्ज माफ होगा। बताया जा रहा है कि कांग्रेस के इस वादे से किसान गदगद हैं, लेकिन उन्हें यकीन नहीं हो रहा है कि वाकई कांग्रेस पार्टी अपने वादे को निभाएगी।

छत्तीसगढ़ के अलावा राजस्थान और मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस कर्जमाफी का वादा कर रही है। इसी क्रम में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नेताओं ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस के पूर्व मंत्री आरपीएन सिंह, पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता राधिका खेड़ा और जयवीर शेरगिल समेत तमाम नेता मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें :

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 : कांग्रेस सत्ता में आयी तो भूमि अधिग्रहण कानून होगा लागू-राहुल

सिद्धू छत्तीसगढ़ में करेंगे कांग्रेस का प्रचार, यह है योजना

इस दौरान सभी नेताओं ने एक छोटी सी बोतल से गंगाजल निकालकर अपने हाथ में लिया और मीडिया के सामने वादा किया कि अगर राज्य में उनकी सरकार बनी तो 10 दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा की 90 सीटों के लिए दो चरणों में मतदान होना है। पहले चरण में 18 सीटों के लिए मतदान 12 नवंबर को हो चुका है। बाकी बची सीटों के लिए मतदान 20 नवंबर को होगा। यह भी बता दें कि नक्सल प्रभावित इलाकों में 12 नवंबर को हुए मतदान में 75 प्रतिशत से ज्यादा वोटिंग हुई थी। जिससे सभी राजनीतिक दल हैरान है।