सिंगापुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर बुधवार को सिंगापुर पहुंचे। इस दौरान वह पूर्वी एशिया सम्मेलन, आसियान-भारत अनौपचारिक बैठक, क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी शिखर बैठक में भाग लेंगे और अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिंगापुर में फिनटेक फेस्टिवल में भाग लिया। उन्होंने कहा कि तकनीक के क्षेत्र में बीते कुछ दशकों में भारत ने लंबी छलांग लगाई है। आज तकनीक कई तरह की नई मौके तैयार कर रही है। पीएम मोदी ने कहा कि सिंगापुर तकनीक की मदद से ही कम समय में ग्लोबल फाइनेंस हब बन गया है।

उन्होंने कहा कि वित्तीय समावेश 1.3 अरब भारतीयों के लिये हकीकत बन गया है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत एक विविधतापूर्ण परिस्थितियों और चुनौतियों का देश है। हमारे समाधान भी विविधतापूर्ण होने चाहिये। पीएम ने कहा कि 2014 तक भारत में 50 फीसदी से भी कम लोगों के पास बैंक खाते थे। आज के दिन तकरीबन सभी का अपना बैंक खाता है।

पीएम ने कहा कि हमारी सरकार जब आई तो हमारा सिर्फ एक ही मकसद था और वह यह कि हम सभी का समावेशी विकास कर पाएं। ताकि हम इसकी मदद से हर एक नागरिक के जीवन स्तर को सुधार पाएं। इसके लिए हमें एक स्थाई वित्तीय समावेश की जरूरत थी।

इसे भी पढ़ें :

सिंगापुर के पीएम ली सिएन लूंग से मिले मोदी, शांगरी-ला में देंगे भाषण

दिव्यांग बच्चियों को गरबा करते देखकर अभिभूत हुए नरेंद्र मोदी, जानिए क्या हैं खास

उन्होंने कहा कि भारत में फिनटेक नवोन्मेष और उद्यम में जबर्दस्त वृद्धि हुई है। फिनटेक का दुनिया को बेहतर जगह बनाने में इस्तेमाल किया जा सकता है।

आपको बता दें कि सिंगापुर पहुंचने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीटर पर लिखा, ‘‘सिंगापुर में भारतीय समुदाय के स्नेह से बेहद प्रभावित हूं। सुबह-सुबह बारिश के बीच उनका गर्मजोशी से स्वागत करना दिल को छू गया। प्रवासी भारतीय हमारे देश को गौरवान्वित करते हैं। वे दुनिया भर में विभिन्न क्षेत्रों में सफल हुए हैं।''