भोपाल : मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले तरह-तरह के वीडियो और ऑडियो वायरल हो रहे हैं। नया वीडियो कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का सामने आया है, जिसमें वह मुस्लिम प्रतिनिधिमंडल से कथित तौर कह रहे हैं कि उन्हें (मुस्लिम) चुनाव होने तक सतर्क रहने की जरूरत है।

कमलनाथ के इस बयान पर भाजपा ने कांग्रेस पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया है।

कमलनाथ का यह वीडियो राज्य में सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें मुस्लिम समाज के प्रतिनिधि कमलनाथ के साथ बैठे दिख रहे हैं, और कमलनाथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर हमला करते हुए कह रहे हैं, "आरएसएस के लोग क्या कर रहे हैं और क्या कह रहे हैं, इसकी मुझे जानकारी है। उनका एक ही स्लोगन है, अगर हिंदू को वोट देना है तो हिंदू शेर, मोदी को वोट दो, अगर मुसलमान को वोट देना है तो कांग्रेस को वोट दो।"

कमलनाथ इस वीडियो में कह रहे हैं कि नागपुर उनके क्षेत्र छिंदवाड़ा के नजदीक है, जहां संघ के लोग दिन में आते हैं और रात में चले जाते हैं। "वे सिर्फ दो लाइन का पाठ पढ़ाने आते हैं- अगर हिंदू को वोट देना है तो हिंदू शेर, मोदी को वोट दो, अगर मुसलमान को वोट देना है तो कांग्रेस को वोट दो। ये इनकी (संघ) रणनीति है।"

इसे भी पढ़ें:

मध्य प्रदेश चुनाव 2018 : कांग्रेस ने घोषणा पत्र में ‘व्यापमं’ को बंद करने का किया वादा

कमलनाथ मुस्लिम समाज के प्रतिनिधियों से कह रहे हैं, "इस समय सजग व सतर्क रहने की जरूरत है। ये लोग आपको (मुस्लिम) उलझाने की कोशिश करेंगे। इनसे हम निपट लेंगे बाद में, मतदान तक आपको सब कुछ सहना पड़ेगा।"

इसे भी पढ़ें :

एमपी चुनाव 2018: कांग्रेस की गुप्त बैठक का वीडियो वायरल, कमलनाथ की ऐसे खुली पोल

कमलनाथ के इस बयान पर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह का कहना है, "कांग्रेस, राहुल गांधी, कमलनाथ सभी का एक ही काम है, राष्ट्रवादी संगठनों को निशाना बनाना, क्योंकि भाजपा राष्ट्रवाद की बात करती है, भाजपा राष्ट्रवादी संगठनों को साथ लेकर चलती है, जिससे पूरा देश एक सूत्र में बंधकर आगे बढ़ता हुआ दिखता है।

कांग्रेस ने हमेशा 'बांटो और राज करो' के आधार पर देश में सत्ता हासिल की है। इसीलिए वह समय-समय पर संघ जैसे राष्ट्रवादी संगठन पर हमला कर तुष्टिकरण की राजनीति करती है।"

--आईएएनएस