अयोध्या में रामलला का मंदिर था, है और रहेगा : योगी आदित्यनाथ

सीएम योगी आदित्यनाथ - Sakshi Samachar

अयोध्या : आज पूरा देश दिवाली मना रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या से गोरखपुर रवाना होने से पहले उन्होंने कहा कि 'अयोध्या में श्रीराम की एक दर्शनीय मूर्ति स्थापित होगी, यह मूर्ति खुले में नहीं लगाई जाएगी बल्कि यह मंदिर में होगी।' उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि अयोध्या में रामलला का मंदिर था, है और रहेगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बात का आज मंदिर बनाने का आधिकारिक तौर पर ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा, "भूमि के अनुसार इस बारे में चर्चा करेंगे। पूजनीय मूर्ति मंदिर में होगी जोकि यहां की पहचान बनेगी। हम वो सारी व्यवस्था करेंगे जिससे आस्था का सम्मान भी हो और अयोध्या की पहचान भी बन सके।"

गौरतलब है कि इससे पहले अयोध्या का दीपोत्सव 2018 गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज हो चुका है। इस उत्सव में सरयू नदी के किनारे 3 लाख एक हजार एक सौ बाबन दिए जलाने का इंतजाम किया गया था।

इस मौके पर गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड के अधिकारी अयोध्या में मौजूद थे। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए योगी सरकार ने विशेष इंतजाम किए थे।

इसे भी पढ़ें :

अकबर नहीं, महाराणा प्रताप थे महान : योगी आदित्यनाथ

अयोध्या दीपोत्सव गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज

कार्यक्रम के सफल होने के बाद गिनीज बुक के अधिकारियों ने सीएम योगी को प्रमाण पत्र सौंपा था। इस दौरान यूपी के राज्यपाल राम नाईक, लालजी टंडन और दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किमजोंग सुक मौजूद रहीं थी।

इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया था कि फैजाबाद जिले का नाम अयोध्या कर दिया गया है। सीएम योगी ने अपने इस फैसले को 'गुड न्यूज' करार दिया था।

माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों से पहले बीजेपी हिंदुत्व को बढ़ावा देने में जुटी है। योगी ने कहा था कि हम सत्ता में इसलिए आए हैं जिससे अयोध्या के साथ कोई अन्याय न हो। हर भारतीय जानता है कि अयोध्या क्या चाहता है। हालांकि उन्होंने राम मंदिर का नाम नहीं लिया था।

Advertisement
Back to Top