भोपाल: मध्यप्रदेश में दिग्गज कांग्रेसी नेता कमलनाथ का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें कमलनाथ बोलते सुने जा सकते हैं कि किसी पर चार या पांच केस हो तो उससे क्या, हमें तो जीतने वाला कैंडिडेट चाहिए। मतलब साफ है कि कांग्रेस पार्टी को दागियों और अपराधियों से कोई परहेज नहीं है। वो हर हाल में मध्य प्रदेश की सत्ता पर काबिज होना चाहती है।

वायरल वीडियो के सियासी इस्तेमाल में सत्ताधारी बीजेपी ने तनिक भी देरी नहीं की। खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो ट्वीट कर लोगों को जानकारी दी। साथ ही कांग्रेस पार्टी पर करारा प्रहार किया।

माना जा रहा है कमलनाथ पार्टी कार्यकर्ताओं की गुप्त बैठक ले रहे थे। जिसमें चुनावी रणनीति तैयार की जा रही थी। अपनी रौ में बोलते हुए कमलनाथ ने कहा कि उन्हें आरोपी नेताओं से कोई परहेज नहीं है। बस जीतने वाला कैंडिडेट होना चाहिए।

कमलनाथ ने कहा, "कोई कहता है इसके ऊपर तो चार केस है, मैं कहता हूं होए पड़े पांच, हम तो इसमें हैं कि मुझे तो जीतने वाला चाहिए।" प्रथमदृष्टया लगता है कि कांग्रेस पार्टी में टिकट के लिए कमलनाथ अपराधियों को भी न्यौता दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें:

कमलनाथ के ट्वीट पर विवाद, “बांग्लादेश की सड़क को मध्य प्रदेश ले आए”

इस वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए सीएम शिवराज ने ट्वीट किया, 'अगर यही कांग्रेस की राजनीति है तो...बाकी जनता खुद ही समझदार है, वही फैसला करेगी की 28 नवंबर को मतदान कर किसको विजयी बनाएगी'।

वहीं कांग्रेस पार्टी ने वायरल वीडियो को डॉक्टर्ड वीडियो बताया है। कांग्रेस प्रवक्ता शोभा ओझा ने दावा किया है कि वीडियो से छेड़छाड़ की गई है। शोभा ओझा ने वीडियो को लेकर मुख्यमंत्री के आरोपों पर चुनाव आयोग से शिकायत की बात कही है।