नई दिल्ली : आजाद भारत के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की आज 143वीं जयंती है। इस मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' देश को समर्पित किया।

इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गुजरात के सीएम विजय रुपाणी, डिप्टी सीएम नितिन पटेल, मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और अन्य नेता भी मौजूद थे।

‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ 182 मीटर ऊंची है। इसे दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा बताई जा रही है। यह प्रतिमा ‘स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी’ से दोगुनी ऊंची है और नर्मदा जिले में सरदार सरोवर बांध के पास साधु बेट टापू पर खड़ी है।

प्रतिमा के अंदर 135 मीटर की ऊंचाई पर एक दर्शक दीर्घा बनाई गयी है । इस दर्शक दीर्घा में एक समय में अधिकतम 200 आगंतुक उपस्थित हो सकते हैं। यहां से सरदार सरोवर बांध, इसके जलाशय और सतपुड़ा एवं विंध्य पर्वत श्रृंखलाओं का मनोरम दृश्‍य नजर आता है।

सरदार पटेल की प्रतिमा
सरदार पटेल की प्रतिमा

इसे भी पढ़ें :

सरदार पटेल को पीएम मोदी का सबसे बड़ा सम्मान, ‘स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी’ राष्‍ट्र को करेंगे समर्पित

इस प्रतिमा को राष्‍ट्र को समर्पित करने के अवसर पर आयोजित समारोह के दौरान भारतीय वायु सेना के विमान फ्लाईपास्ट करेंगे। इसके साथ ही विभिन्‍न सांस्‍कृतिक दल इस अवसर पर अपनी-अपनी कलाओं का प्रदर्शन भी करेंगे।

सरदार पटेल की प्रतिमा
सरदार पटेल की प्रतिमा

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत के वर्तमान ने अपने देश के इतिहास के एक सर्वणिम पुरूष को उजागर करने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि पूरा देश सरदार पटेल की स्मृति में राष्ट्रीय एकता दिवस मना रहा है। इस अवसर पर देश के अलग-अलग कोने में हमारे देश को नौजवान दौड़ लगा रहे हैं, रन फॉर यूनिटी, उनके इस जज्बे को मैं नमन करता हूं।