रतलाम : पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव ने कहा कि केंद्र की वर्तमान सरकार की विदाई तय है और वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में वर्तमान सरकार के खिलाफ महागठबंधन मैदान में उतरेगा, लेकिन उसका कोई चेहरा नही होगा।

शरद यादव ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश में बांसवाड़ा रवाना होने से पूर्व मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, ‘‘केन्द्र की वर्तमान सरकार की विदाई तय है, क्योंकि देश के हालात काफी विकट हैं। वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में वर्तमान सरकार के खिलाफ महागठबंधन मैदान में उतरेगा, लेकिन उसका कोई चेहरा नहीं होगा।''

आरक्षण के संबंध में पूछे गये सवाल को यादव टाल गये। उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वर्ष 2014 में जनता से जो वादे किए गए थे, उन्हें पूरा नहीं किया गया है। किसानों को फसल की लागत से डेढ़ गुना मूल्य देने, प्रतिवर्ष 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने, गंगा साफ करने जैसे और कई अन्य वादे हैं जो पूरे नहीं हुए हैं।

यह भी पढ़ें :

अविश्वास प्रस्ताव पर विपक्ष की हार 2019 के चुनाव की झलक : अमित शाह

भाजपा का नया दांव : 2019 में मुलायम के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे अमर सिंह !

शरद यादव ने कहा कि सरकार को सड़क, पानी, बिजली, रोजगार पर ध्यान देना चाहिए, जो नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने आधार कार्ड पर सवाल उठाते हुए कहा वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव किसान, लोकशाही, रोजगार, राफेल आदि मुद्दे पर लड़ा जाएगा।

राज्यों में महागठबंधन को लेकर प्रश्न पूछे जाने पर उन्होंने कहा राज्यों की स्थिति अलग होती है। आम चुनाव में प्रधानमंत्री पद के चेहरे संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि चुनाव बिना किसी चेहरे के लड़ा जाएगा। चुनाव बाद सब मिलकर चेहरा तय कर लेंगे।