CM शिवराज की सभा में लड़कियों की उतरवा ली चुन्नी, ये थी वजह

बैतूल में जनसंपर्क करते शिवराज सिंह चौहान - Sakshi Samachar

बैतूल: मध्यप्रदेश में बैतूल जिले के मुलताई में मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जनआशीर्वाद यात्रा कार्यक्रम में शामिल होने आयी कॉलेज की कुछ छात्राओं की पुलिस ने कथित तौर पर काली चुन्नी उतरवा कर रख ली।

मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाने की आशंका को लेकर ये चुन्नियां उतरवाई गई। छात्राओं ने बताया, "एक महिला पुलिस अधिकारी ने पहले हमारी चुन्नी उतरवाकर हमारे ही बैग में रखवा दिया। फिर कुछ देर बाद मुख्यमंत्री के आने से पहले पुलिस ने हमारी चुन्नियाँ ले ली और कहा कि मुख्यमंत्री का कार्यक्रम समाप्त हो जाने के बाद वापस लौटा दी जाएगी।

रात साढ़े आठ बजे तक उन्हें उनकी चुन्नियां वापस नहीं मिल पाई हैं। दरअसल, मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व विकास क्षमता कार्यक्रम के तहत कराए जाने वाले बैचलर ऑफ सोशल वर्क (बीएसडब्ल्यू) की आधा दर्जन से अधिक छात्राएं मुख्यमंत्री के मंगलवार को मुलताई पहुंचने की खबर सुनकर उनके कार्यक्रम में शामिल होने पहुंची थीं। इन छात्राओं का ड्रेस कोड गुलाबी कुर्ती, काली सलवार और काली चुन्नी है।

हालांकि, मुलताई पुलिस थाना प्रभारी रामस्नेही चौहान ने कहा, ‘‘मेरी ड्यूटी विरोध प्रदर्शन करने वालों की गिरफ्तारी में लगी हुई थी। सभा स्थल पर क्या हुआ, इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है।'' पूर्व विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस महासचिव सुखदेव पांसे ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा, "यह घटना मानवता को शर्मसार करने वाली है। फर्जी घोषणा करने वाले मुख्यमंत्री इतने ज्यादा भयभीत हैं कि वे छात्राओं की यूनिफार्म तक से खौफ खा रहे हैं।'' वहीं, मुलताई के भाजपा विधायक चंद्रशेखर देशमुख ने कहा, ‘‘मेरी जानकारी में यह मामला नहीं है। अगर ऐसा हुआ है तो यह गंभीर बात है। मैं तत्काल इस मामले में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) से बात कर पता लगाता हूं कि इस मामले में क्या हुआ और ऐसा क्यों किया गया?''

गौरतलब है कि जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान बैतूल, मुलताई और भैंसदेही पहुंचे मुख्यमंत्री चौहान जैसे ही मुलताई पहुंचे, कांग्रेस के पूर्व विधायक सुखदेव पांसे के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार नारेबाजी करते हुए ‘मुख्यमंत्री वापस जाओ' के नारे लगाये। साथ ही, जनआशीर्वाद यात्रा का रथ जैसे ही बैतूल जिला मुख्यालय स्थित लल्ली चौक पहुंचा, वहां मौजूद कांग्रेस की दो महिला नेताओं ने मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाये। हालांकि, बाद में पुलिसकर्मियों ने दोनों महिलाओं से काला कपड़ा छीन लिया।

Advertisement
Back to Top