नई दिल्ली : मध्य प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में वीवीपीएटी वोटिंग मशीनों की औचक जांच का निर्देश निर्वाचन आयोग को देने की मांग करने वाली कांग्रेस नेता कमलनाथ की याचिका पर उच्चतम न्यायालय अगले सप्ताह सुनवाई करेगा।

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष शुक्रवार को यह मामला आया। पीठ ने कहा कि इस पर सुनवाई अगले सप्ताह की जाएगी।

कमलनाथ ने अपनी याचिका में न्यायालय से अनुरोध किया है कि वह प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में कम से कम 10 प्रतिशत मतदान केन्द्रों पर ईवीएम में पड़े मतों का मिलान वीवीपीएटी मशीनों की पर्ची के साथ करने का निर्देश निर्वाचन आयोग को दिया जाए। उन्होंने मतदाता सूची भी लिखित प्रारूप में उपलब्ध कराने का निर्देश देने का अनुरोध किया है।

यह भी पढ़ें :

“वीवीपैट लगी ईवीएम से हो चुनाव तो भाजपा का कहीं भी जीतना मुश्किल”

“पहले ही टेस्ट में फेल हुई वीवीपैट मशीनें, भाजपा कर सकती है चुनाव में गोलमाल”