पटना : बिहार को विशेष दर्जा देने की मांग अब जोर पकड़ती जा रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि राज्य के सभी दलों ने बिहार के लिए विशेष दर्जे की मांग का समर्थन किया है। हम अपनी मांग को आगे बढ़ाएंगे क्योंकि विशेष दर्जे की मांग के लिए हमारे पास अपना तर्क है।

इससे पहले जनता दल-युनाइटेड (जद-यू) के छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने राज्य को विशेष दर्जा देने की मांग को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की थी। प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई कांग्रेस को छोड़कर जद-यू में शामिल हुए अशोक चौधरी ने की। चौधरी जद-यू में शामिल होने से पहले बिहार कांग्रेस इकाई के प्रमुख थे।

यह भी पढ़ें :

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले : नीतीश

विशेष दर्जा से इनकार करके बिहार से अन्याय कर रही मोदी सरकार : जदयू

चौधरी ने कहा, "हमने कोविंदजी से यह बताने के लिए मुलाकात की कि हम क्यों बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं।" उन्होंने कहा कि जद-यू नेताओं ने राष्ट्रपति को बिहार में कुछ समारोह में भाग लेने के लिए भी आमंत्रित किया।

चौधरी के अलावा, विधान परिषद सदस्य दिलीप चौधरी, तनवीर अख्तर, जद-यू की युवा इकाई के सचिव रंजीत झा और इंद्र मोहन कुमार इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल थे।