मुंबई : नकारात्मक वैश्विक संकेतों और विदेशी निवेशकों की निकासी के बीच बैंकिंग, आईटी और वाहन कंपनियों के नुकसान के कारण बुधवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में 300 अंकों से अधिक की गिरावट रही। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 303.70 अंक यानी 0.78 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,793.44 अंक पर चल रहा था।

इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 92.70 अंक यानी 0.80 प्रतिशत गिरकर 11,495.50 अंक पर चल रहा था। मंगलवार को सेंसेक्स में मामूली 7.11 अंक की तेजी रही थी और यह 39,097.14 अंक पर बंद हुआ था। निफ्टी 12 अंक लुढ़ककर 11,588.20 अंक पर बंद हुआ था।

सेंसेक्स की कंपनियों में टाटा मोटर्स, भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, वेदांता, टाटा स्टील, कोटक बैंक, एक्सिस बैंक, मारुति सुजुकी, इंफोसिस, आईटीसी और आईसीआईसीआई बैंक में तीन प्रतिशत तक की गिरावट रही। कारोबारियों के अनुसार, वैश्विक बाजारों के नकारात्मक संकेतों का घरेलू बाजारों पर दबाव रहा।

यह भी पढ़ें :

महंगाई के आंसू रुला रही प्याज, कीमत पहुंची 60 के पार

प्याज के बाद अब तेल की कीमत में इजाफा, पेट्रोल-डीजल हुआ महंगा

एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, हांग कांग का हैंग सेंग, जापान का निक्की और दक्षिण कोरिया का कोस्पी, कारोबार के दौरान गिरावट में चल रहा था। मंगलवार को अमेरिका का वाल स्ट्रीट भी गिरकर बंद हुआ था।

प्राथमिक आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 828.49 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी की। हालांकि घरेलू संस्थागत निवेशक 472.81 करोड़ रुपये के शुद्ध खरीदार रहे।