कोलकाता : सरकारी संक्रामक रोग अस्पताल में यहां एक संदिग्ध कोरोनावायरस से पीड़ित एक चीन के नागरिक को भर्ती किया गया है। उसे एक अलग वार्ड में रखा गया है। राज्य की स्वास्थ्य विभाग की एक टीम ने 28 वर्षीय हु मे की जांच की। बाद में स्वास्थ्य शिक्षा के निदेशक देबशीष भट्टाचार्य ने कहा कि उसकी स्थिति स्थिर है।

यह पता चला है कि हु मे ने चीन छह महीने पहले छोड़ दिया था और नामीबिया, मेडागास्कर और मॉरीशस का दौरा कर 24 जनवरी को भारत पहुंची है।

यहां आने के बाद महिला बीमार पड़ गई और एक निजी अस्पताल में गई, जिसने उन्हें रविवार को आईडी अस्पताल, बेलेघाटा रेफर कर दिया।

इसे भी पढ़ें :

भारत में कोरोना वायरस की दस्तक, चीन से लौटा छात्र अस्पताल में भर्ती

हालांकि, कोलकाता नगर निगम के अधिकारियों ने दावा किया कि डॉक्टरों ने मरीज में कोरोनावायरस का कोई लक्षण नहीं देखा है।

केएमसी मेयर-इन-काउंसिल मेंबर स्वपन समददार ने कहा, "वह घबरा गईं। रविवार की रात हमारे डॉक्टरों ने उनके स्थिति की निगरानी की। उन्होंने फिर से सोमवार को उनकी जांच की। डॉक्टरों ने कहा कि उनमें कोरोनावायरस के कोई लक्षण नहीं हैं।"