लंदन : दुनियाभर से कई ऐसे चौंकाने वाले मामले सामने आते रहते हैं जिसे जानकर लोगों सन्न रह जाते है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही मामलों से रुबरु कराएंगे जिसे जानकर आप के पैरों के नीचे से जमीन खिसक जाएगी। जी, हां, विश्व में एक ऐसा देश है जहां माता-पिता अपने बच्चों को महज 200 रुपये में बेच रहे हैं और खरीदने वाले लोग इन बच्चों से रेप करते है। यह हम नहीं कह रहे हैं बल्कि ब्रिटिश मीडिया द सन की एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। ये मामला अफ्रीकी देश गाम्बिया का है।

रिपोर्ट की मानें तो ब्रिटेन के ही काफी लोग बच्चों को खरीदने के धंधे में शामिल हैं। दरअसल, अफ्रीकी देश गाम्बिया की खराब कानून व्यवस्था का फायदा उठाकर विदेशी लोग ऐसी हरकत कर रहे हैं। विदेशी लोग छुट्टी मनाने के लिए अफ्रीका जाते हैं और वहां खुलेआम बच्चों का सौदा कर उनके साथ यौन शोषण करते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जांच के दौरान बीच रिसॉर्ट्स में बड़ी संख्या में विदेशी लोगों के साथ नाबालिग अफ्रीकी बच्चे देखे गए। एक जगह पर उम्र दराज विदेशी करीब 8 साल की अफ्रीकी बच्ची के साथ देखा गया।

गाम्बिया में चाइल्ड प्रोटेक्शन अलायंस के नेशनल को-ऑर्डिनेटर लेमिन फैटी का कहना है कि विदेशी पर्यटक अफ्रीकी नाबालिग बच्चों को अपना निशाना बना रहे हैं। इसका कारण गरीबी है। गरीबी में जी रहे माता-पिता अपने बच्चों को बहुत सस्ते में सौदा कर रहे हैं।

लेमिन फैटी अनुसार, हमारे देश में संबंध बनाना बहुत सस्ता है। बच्चों को महज 185 रुपये तक में बेचा जा रहा है। कई माता-पिता को बच्चे के साथ होने वाले शोषण का पता होता है, लेकिन वे खाने-पीने का सामान इकट्ठा करने के लिए बेसब्र होते हैं।

इसे भी पढ़ें :

शिरडी आज से अनिश्चितकाल के लिए बंद, पर भक्तों के लिए खुलेगा मंदिर, जानें बवाल की वजह

आज ही के दिन इंदिरा गांधी बनीं थीं देश की पहली महिला प्रधानमंत्री

लेमिन फैटी के मुताबिक, कई पैरेंट्स ऐसे भी हैं जो सच्चाई से अनजान हैं। उन्हें लगता है कि विदेशी पर्यटक उनके बेटे या बेटी की मदद कर सकते हैं। लेकिन असल में इन पर्यटकों का इरादा काफी गलत होता है। सरकार बाल शोषण को लेकर खामोश है। वह रोकने के लिए पर्याप्त कार्रवाई भी नहीं कर रही है।

हाल ही में थॉमस कूक नाम की ट्रैवल फर्म बंद हो गई। इससे गाम्बिया आने वाले ट्रैवलर की संख्या में भारी कमी आई है। इसका असर देश की खराब अर्थव्यवस्था पर और अधिक पड़ रहा है।