नई दिल्ली : पाकिस्‍तानी शख्‍स से निकाह करना एक भारतीय महिला को अब भारी पड़ रहा है। महिला के लिए अपना धर्म और राष्‍ट्रीयता तक छोड़ देने वाली भारतीय मूल की महिला के साथ अब नई परेशानियां सामने आ रही हैं। करीब दो दशक पहले उन्होंने शादी की थी। महिला को अब पहचान के संकट से जूझना पड़ रहा है।

यह महिला मूलत: भारत की रहने वाली है, जिसने तकरीबन 19 साल पहले पाकिस्‍तानी शख्‍स से निकाह के लिए अपना नाम, धर्म और राष्‍ट्रीयता भी बदल ली थी। लेकिन तकरीबन दो दशक हो जाने के बाद भी महिला के पाकिस्तानी राष्ट्रीय पहचान पत्र का नवीनीकरण नहीं हो पाया है।

'गल्फ न्यूज' के मुताबिक, महिला का नाम काजल रशीद खान है, जिसने 31 जुलाई को ही अपना पाकिस्तानी पहचान पत्र नवीनीकरण के लिए दिया था, लेकिन उसे अब तक नया पहचान पत्र नहीं मिल पाया है, जबकि इस प्रक्रिया में आम तौर पर सात से 10 दिन का समय लगता है।

वहीं, अधिकारियों का कहना है कि इसमें देरी इसलिए हो रही है, क्‍योंकि दस्तावेजों को अभी 'सत्यापित' किया जा रहा है। काजल के पति मोहम्मद रशीद का कहना है कि वह पिछले तीन महीने से इस बारे में नेशनल डेटाबेस एवं पंजीकरण प्राधिकरण (एनएडीआरए) को लिख रहे हैं और उन्‍होंने सभी अतिरिक्‍त दस्तावेज भी जमा करवा दिए हैं, पर अब तक इस दिशा में कोई प्रगति नहीं हुई है।

काजल को नया पहचान-पत्र नहीं हासिल होने से अब उसके बैंक खातों के संचालन पर भी रोक लगा दी गई है। हालांकि उसका पुराना पाकिस्तानी पहचान पत्र वर्ष 2023 तक मान्य है, लेकिन अपने बैंक खाते के संचालन के लिए उसे नए स्मार्ट पहचान-पत्र की आवश्यकता है।

आपको बता दें कि पूर्व में भारतीय नागरिक रह चुकी काजल के पास अब वैध पाकिस्तानी पासपोर्ट और पाकिस्तानी नागरिकता प्रमाण-पत्र भी है। उसने दुबई स्थित पाकिस्तानी कन्सुलेट जनरल से प्रमाणित एक पत्र भी पेश किया, जिसके अनुसार काजल ने साल 2001 में ही अपना भारतीय पासपोर्ट सौंप दिया था, जिसके बाद उसे पाकिस्‍तानी पासपोर्ट मिला था।

इसे भी पढ़ें :

पाकिस्तान : हिन्दू छात्रा की हत्या से पहले किया था दुष्कर्म

पाकिस्तान के सिंध में हिंदू लड़की को ऐसे मारा, सुनकर ख़ून खौल उठेगा आपका

काजल के शौहर रशीद (60) पेशे से आर्किटेक्ट बताए जा रहे हैं, जो वर्ष 1989 में कराची से संयुक्त अरब अमीरात चले गए थे। रशीद ने 1996 में मुंबई की एक हिंदू लड़की से निकाह किया था, जिसका नाम पूर्व में कल्पना था। कल्पना ने इस्लाम कबूल करने के बाद अपना नाम बदलकर काजल रख लिया था। रशीद के भारत में कई अन्‍य रिश्तेदार भी हैं।

सबसे दिलचस्‍प बात यह है कि रशीद की चार पत्नियां हैं, जिनमें से दो भारतीय और दो पाकिस्तानी हैं। चारों बीवियों से रशीद के 10 बच्चे हैं। उसकी एक पत्नी अपनी दो बेटियों के साथ भारत में ही रहती है, जबकि रशीद और काजल के भी दो बच्चे हैं।