कराची-रावलपिंडी तेजगाम एक्सप्रेस ट्रेन में लगी भीषण आग, 73 की मौत, दर्जनों घायल

कराची-रावलपिंडी तेजगाम एक्सप्रेस - Sakshi Samachar

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के पूर्वी पंजाब प्रांत में गुरुवार को कराची से रावलपिंडी जा रही एक ट्रेन में आग लग जाने से कम से कम 73 यात्रियों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। जियो न्यूज ने यह जानकारी दी। घायलों में से कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है जिन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


कराची- रावलपिंडी तेजगाम एक्सप्रेस में लगी भीषण आग से ट्रेन के तीन डिब्बे जलकर खाक हो गए हैं। यह ट्रेन गुरुवार सुबह रहीम यार खान रेलवे स्टेशन के करीब लियाकतपुर पहुंची थी ट्रेने की एक बोगी बुरी तरह से आग की लपटों में घिर गईं।


आग इतनी भीषण थी कि जल्द ही अन्य बोगियों तक पहुंच गई। जिस समय आग लगी उस समय यात्री सोए हुए थे जिससे उन्हें भागने का मौका भी नहीं मिला। आग लगने के बाद दमकल और स्थानीय पुलिस वहां पहुंची और घायलों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया।

यहां के एक रेलवे अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि लियाकतपुर के शहरी इलाके के पास पैसेंजर ट्रेन तेजगाम में आग लग गई। उन्होंने कहा कि ट्रेन में सवार कोई यात्री अपने साथ गैस सिलेंडर लेकर चल रहा था, जिसमें विस्फोट होने पर दुर्घटना हुई।

जिला बचाव सेवा के प्रमुख बकीर हुसैन ने मृतकों के संख्या की पुष्टि की है। जियो न्यूज के सूत्रों के मुताबिक, दस शवों की शिनाख्त कर ली गई है जबकि कई शवों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। हुसैन ने कहा कि शवों की शिनाख्त डीएनए से की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, यात्री ट्रेन में नाश्ता बना रहे थे जब विस्फोट हुआ। इस डिब्बे से जुड़े दोनों कोचों में भी भीषण आग लग गई। आग ने ट्रेन के तीन डिब्बों को तबाह कर दिया जिनमें दो इकोनॉमी श्रेणी के डिब्बे और एक बिजनेस श्रेणी शामिल थे।

पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने कहा, "खाना पकाने के दो स्टोव फट गए। खाना पकाया जा रहा था, पास में खाना बनाने का तेल था जिसने आग और भड़क गई।"

उन्होंने कहा, "अधिकतर मौतें ट्रेन में से कूदने के चलते हुईं।" उन्होंने आगे यह भी कहा, "जिस डिब्बे में यह दुर्घटना हुई उसमें 'तबलीगी जमात' के लोग यात्रा कर रहे थे। आग से बोगियों को बहुत नुकसान पहुंचा और वे शेष ट्रेन से अलग हो गईं।"

रशीद ने कहा कि आग पर काबू पा लिया गया है और अब इसे ठंडा करने का प्रयास जारी है। प्रधानमंत्री इमरान खान ने घटना के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए अधिकारियों को घायलों के लिए सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

यह इस साल पाकिस्तान में दूसरी बड़ी रेल दुर्घटना है। जुलाई में, लाहौर से क्वेटा जा रही अकबर बुगती एक्सप्रेस के पंजाब प्रांत के सदीकाबाद तहसील में वल्हार रेलवे स्टेशन पर एक मालगाड़ी से टकराने पर 24 लोगों की मौत हो गई थी।

Advertisement
Back to Top