जापान के ओसाका शहर में जी-20 की बैठक चल रही है। आज सुबह अमेरिका-जापान और भारत के नेताओं की त्रिपक्षीय बैठक हुई। जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने हिस्सा लिया। इस बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई।

इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय मुलाकात हुई, जिस दौरान रक्षा संबंधों सहित अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। ट्रंप ने इस दौरान पीएम मोदी की तारीफ करते हुए उन्‍हें 2019 के चुनाव में जीत के लिए बधाई दी और कहा कि दोनों अब तक वास्‍तव में अच्‍छे मित्र बन गए हैं।

बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि चार प्रमुख मुद्दों पर वे बात करना चाहते हैं जिनमें ईरान, 5जी, द्विपक्षीय और रक्षा संबंध शामिल हैं।

ईरान मुद्दे पर अमेरिका के राष्‍ट्रपति ने कहा, 'संदेश वही है, जो तीन दिन पहले था। हमारे पास पर्याप्‍त समय है और हम किसी तरह की जल्‍दबाजी में नहीं हैं। वे भी समय ले सकते हैं। जाहिर तौर पर समय नहीं होने का कोई दबाव नहीं है। आखिर में मुझे सबकुछ ठीक हो जाने की उम्‍मीद है। अगर ऐसा होता है तो अच्‍छा है, वरना आप इस बारे में सुनेंगे।

ट्रंप ने मोदी से कहा कि हम लोग काफी अच्छे दोस्त हो गए हैं, हमारे देशों में इससे पहले कभी इतनी नजदीकी नहीं हुई। मैं ये बात पूरे भरोसे से कह सकता हूं। हम लोग कई क्षेत्रों में खासकर मिलिटरी में मिलकर काम करेंगे। आज हमलोग कारोबार के मुद्दे पर भी बात कर रहे हैं।

ट्रंप ने पीएम मोदी से कहा, "आपने लोगों को साथ लाने का बड़ा काम किया है। मुझे याद है कि जब आप पहली बार सत्ता में आए थे तब कई धड़े थे और वे आपस में लड़ते थे और वे अब एकसाथ हैं। यह आपकी क्षमता का सबसे बड़ा सम्मान है।"