मिस्र मे ईसाइयों पर हमले के जिहादियों को पुलिस ने मार गिराया  

कांसेप्ट इमेज  - Sakshi Samachar

काहिरा : मिस्र के गृह मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में काप्टिक इसाई समुदाय के लोगों पर घातक हमला करने वालों में शामिल 19 जिहादी, पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए हैं। गृह मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया कि पुलिस के साथ मुठभेड़ में जो लोग मारे गए हैं, वह मिन्या प्रांत में हुए हमले में शामिल प्रकोष्ठ का हिस्सा थे । इस हमले में सात श्रद्धालुओं की मौत हो गयी थी ।

बयान में कहा गया है, ‘‘आतंकी तत्वों ने (सुरक्षा) बलों पर गोलीबारी की, जिसका जवानों ने भी सफलता पूर्वक जवाब दिया और इसी दौरान ये लोग मारे गए ।'' मंत्रालय ने कहा, ‘‘19 संदिग्ध जिहादियों को देश में आतंकवादी तत्वों की तलाश के हिस्से के रूप में पाया गया, जो देश विरोधी अभियान चला रहे थे । इसमें वो पिछला हमला भी शामिल है जो संत सैमुअल इसाई मठ से लौट रहे नागरिकों को निशाना बना कर शुक्रवार को किया गया था ।''

शुक्रवार को हुए हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट समूह ने ली है। इस हमले में सात लोगों की मौत हो गयी थी । मारे गए लोगों में छह कॉप्ट ईसाई और एक एंग्लिकन थे । आईएस ने यह जिम्मेदारी प्रचार एजेंसी अमाक के माध्यम से ली थी । गृह मंत्रालय ने बताया कि पर्वतीय और मरूस्थलीय मिन्या प्रांत में ‘‘भगोड़े आतंकवादी तत्वों'' का पता लगाने के लिए छापेमारी की गयी ।

इसे भी पढ़ें:

मिस्र में सेना की कार्रवाई में 13 आतंकी, दो सैन्य अधिकारी मारे गए

मिस्र के विभिन्न टीवी चैनलों ने इस संबंध में खबरें और तस्वीरें प्रसारित की हैं जिसमें सशस्त्र लोगों के शवों को मरूस्थल के बालू में पड़े देखा जा सकता है । ये तस्वीरें गृह मंत्रालय की ओर से मुहैया करायी गयी है। टीवी चैनल पर आईएस के झंडे लगे तंबू की तस्वीर भी प्रसारित की जा रही है ।

इसे भी पढ़ें :

मिस्र में मुठभेड़ के दौरान 13 आतंकवादियों को मार गिराया

इसके बारे में कहा जा रहा है कि इसका इस्तेमाल कथित रूप से संदिग्ध जिहादी प्रकोष्ठ ने किया था । पोप फ्रांसिस ने रविवार को ईसाइयों के मारे जाने पर दुख जताया और मरने वालों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की । मिस्र में कॉप्टिक ईसाई अल्पसंख्यक हैं । देश की लगभग दस करोड़ जनसंख्या में काप्टिक ईसाई दस फीसदी से अधिक हैं । हाल के वर्षों में आईएस जिहादियों ने उन्हें निशाना बनाना शुरू किया है ।

Advertisement
Back to Top