करतारपुर कॉरिडोर के जरिए पाकिस्तान की ‘गंदी राजनीति’, मनमोहन को न्यौता, मोदी से दूरी

डिजाइन इमेज - Sakshi Samachar

इस्लामाबाद : पाकिस्तान ने नवंबर में होने वाले करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आमंत्रित करने का फैसला किया है। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दूरी बना रखी है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सोमवार को इसकी जानकारी दी।

कुरैशी ने एक टीवी चैनल को बताया, ‘‘करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन एक बड़ा कार्यक्रम है पाकिस्तान इसकी जोर-शोर से तैयारी कर रहा है।'' विदेश मंत्री ने बताया कि पाक प्रधानमंत्री इमरान खान की इसमें व्यक्तिगत रुचि है।

उन्होंने कहा, ‘‘विचार-विमर्श के बाद, पाकिस्तान ने उद्घाटन समारोह में मनमोहन सिंह को बुलाने का निर्णय किया है, जिनका हम अत्यधिक सम्मान करते हैं। वह सिख समुदाय का प्रतिनिधित्व करते हैं।''

पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोररे के माध्यम से भारत के पांच हजार सिख श्रद्धालुओं को रोजाना नरोवाल स्थित गुरद्वारा करतारपुर साहिब का दर्शन करने की अनुमति दी है। कुरैशी ने कहा, ‘‘सरकार की तरफ से पाकिस्तान का विदेश मंत्री होने के नाते मैं उन्हें (सिंह को) करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिये आमंत्रित करूंगा।''

उन्होंने कहा कि सरकार की जल्दी ही इस बारे में मनमोहन सिंह को एक औपचारिक पत्र भेजने की मंशा है। कुरैशी ने मनमोहन सिंह को समारोह में बुलाये जाने को सही ठहराते हुए कहा कि वह सिख धर्म के हैं और वह सिख समुदाय के प्रतिनिधि हैं। उन्होंने बताया, ‘‘सिख श्रद्धालुओं का स्वागत करके हमें प्रसन्नता होगी, जो गुरु नानक देव के 550 वें प्रकाश पर्व पर करतारपुर आने वाले हैं।''

यह भी पढ़ें :

9 नवंबर को खुलेगा करतारपुर कॉरिडोर, 5 हजार श्रद्दालु कर सकेंगे रोजाना दर्शन

करतारपुर कॉरिडोर शिलान्यासः Pak आर्मी चीफ के साथ दिखा खालिस्तानी आतंकी

करतारपुर कॉरिडोर परियोजना के निदेशक आतिफ माजिद ने इस महीने के शुरू में कहा था कि गलियारे का 86 फीसदी काम पूरा हो चुका है।

यह कॉरिडोर करतारपुर स्थित दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से जोड़ेगा जिससे भारतीय श्रद्धालु वीजा मुक्त आवाजाही कर सकेंगे।

करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं को केवल परमिट लेना होगा। सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव के 12 नवंबर को होने वाले 550 वें प्रकाश पर्व से तीन दिन पहले नौ नवंबर को पाकिस्तान सिख श्रद्धालुओं के लिए इस कॉरिडोर को खोलेगा।

Advertisement
Back to Top