बिलावल भुट्टो का इमरान पर अटैक, ‘पहले श्रीनगर लेने की बात करते थे, अब मुजफ्फराबाद बचाना भी मुश्किल’  

बिलावल भुट्टो ने इमरान सरकार की विदेश नीति पर सवाल उठाए हैं। - Sakshi Samachar

लाहौर : भारतीय प्रधानमंत्री और भारतीय सरकार पर गाहे-बगाहे फासीवादी होने का आरोप लगाने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान नियाजी पर खुद फासीवादी होने का आरोप लगाया गया है।

पीपीपी के नेता बिलावल भुट्टो ने कहा कि कहां तो पहले यह देश भारत से श्रीनगर छीनने की बात करता था, लेकिन अब मुजफ्फराबाद बचाने के भी लाले पड़ गए हैं।

पाकिस्तान के प्रमुख विपक्षी दल पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के चेयरमैन बिलावल भुट्टे जरदारी ने इमरान खान नियाजी के नाम में शामिल नियाजी को 'नाजी' कहकर संबोधित किया।

अडियाला जेल में बंद अपने पिता आसिफ अली जरदारी और बुआ फरयाल तालपुर से मुलाकात के बाद बिलावल ने संवाददाताओं से कहा, "इमरान कश्मीर में (नरेंद्र) मोदी के जुल्म का वर्णन करने में नाजियों का जिक्र करते हैं जबकि यहां एक नियाजी है जो इनसे भी कहीं बड़ा फासीवादी है, जो मीडिया, लोकतंत्र पर हमले कर रहा है और मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है।"

बिलावल ने आरोप लगाया कि उनके पिता जरदारी को जान से मारने की कोशिश हो रही है। उन्हें चिकित्सा सुविधा से वंचित रखा जा रहा है।

उन्होंने कहा, "नियाजी एक फासीवादी हैं जो मीडिया और लोकतंत्र पर हमले कर रहे हैं, महिलाओं को गिरफ्तार कर रहे हैं। लेकिन, वह भूल गए हैं कि पीपीपी कभी दबाव में नहीं टूटी और अयूब खान, यहया खान, जिया उल हक, जनरल मुशर्रफ जैसे तानाशाहों से निपटने में पीछे नहीं रही। ऐसे में यह कठपुतली (इमरान खान) भला हमें क्या परेशान कर सकता है?"

उन्होंने कहा, "हम अदालत जाएंगे। अगर डॉक्टरों की सलाह पर अमल नहीं हुआ और जरदारी को कुछ हुआ तो फिर यह अमल नहीं करने वाले इसके लिए जिम्मेदार होंगे।"

Advertisement
Back to Top