वॉशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर कश्मीर के मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है। ट्रंप ने कहा कि अगर भारत कहेगा तो वह कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने को तैयार है।

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मध्यस्थता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तय करना है। ट्रंप ने कहा कि मैंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात की थी। मोदी और इमरान खान दोनों को एक साथ आना चाहिए और इस मुद्दे पर बात करनी चाहिए। अमेरिकी राष्ट्रपति का कहना है कि अगर भारत चाहता है तो वह मध्यस्थता करने के लिए तैयार हैं।

ट्रंप का कश्मीर राग

यह पहला मौका नहीं है जब ट्रंप ने कश्मीर पर मध्यस्थता का जिक्र किया है। इससे पहले पाक पीएम इमरान खान के अमेरिका दौरे के दौरान ट्रंप ने कहा था कि कश्मीर के मुद्दे पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्यस्थता करने का आग्रह किया था। भारत ने हालांकि उनके इस दावे को खारिज कर दिया था।

यह भी पढ़ें :

लोकसभा में बोले राजनाथ : झूठ बोल रहे हैं डोनाल्ड ट्रंप, मोदी ने नहीं की कोई बात

कश्मीर मुद्दे पर ट्रंप के दावे की खुली पोल, अमेरिकी सांसद ने कहा- मोदी कभी नहीं करेंगे ऐसी बात

दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की कार्यकारी सहायक सचिव वेल्स ने स्वीकार किया कि कश्मीर दोनों देशों का द्विपक्षीय मुद्दा है, जबकि इस मुद्दे पर भारत का हमेशा एक मत रहा है।

वेल्स ने ट्वीट किया, "कश्मीर जहां बातचीत करने के लिए दोनों देशों का द्विपक्षीय मुद्दा है, ट्रंप प्रशासन पाकिस्तान और भारत के साथ बैठकर बात करने का स्वागत करता है और अमेरिका इसमें सहयोग करने के लिए तैयार है।"