इस्लामाबाद : देश के राजनीतिक एवं सैन्य नेताओं के धुर आलोचक रहे मोहम्मद बिलाल खान की हत्या के मामले की निंदा करते हुए पाकिस्तानी सेना ने कहा कि उनकी मौत के लिए सरकार के सुरक्षा बल जिम्मेदार नहीं हैं।

खान की सोमवार को राजधानी इस्लामाबाद के कराची कंपनी इलाके में छुरा मार कर हत्या कर दी गई थी। सेना के एक प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि यह खान की हत्या में सरकारी एजेंसियों को फंसाने का दुर्भावनापूर्ण प्रयास एवं दुष्प्रचार है।

पुलिस उस फोन कॉल के बारे में पता लगा रही है जिसके माध्यम से खान के हमलावरों ने उन्हें कराची कंपनी इलाके में बुलाया था। बताया जाता है कि खान के कट्टरपंथी इस्लामी समूहों के साथ करीबी रिश्ते थे।

ये भी पढ़ें: माली के गांवों पर हमले में 38 लोगों की मौत

वह अपने ट्विटर अकाउंट पर प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तान के शक्तिशाली सुरक्षा बलों की नियमित रूप से आलोचना करता था। इस अकाउंट के फॉलोवरों की संख्या 16,000 से अधिक थी।