नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फोन पर बातचीत कर रक्षा, आतंकवाद विरोधी कदमों और ऊर्जा के क्षेत्रों में बढ़ते द्विपक्षीय सहयोग को सराहा।

अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने बातचीत के दौरान एक दूसरे को नव वर्ष की शुभकामनाएं दीं और वर्ष 2018 में भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक साझीदारी लगातार बढ़ने पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने नई 2+2 वार्ता व्यवस्था और भारत, अमेरिका एवं जापान के बीच पहले त्रिपक्षीय शिखर सम्मेलन की भी प्रशंसा की।

दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय एवं वैश्विक मामलों पर समन्वय के अलावा रक्षा, आतंकवाद रोधी कदमों और ऊर्जा के क्षेत्र में बढ़ते द्विपक्षीय सहयोग को भी सराहा। मोदी और ट्रम्प ने सोमवार शाम हुई वार्ता में 2019 में भारत-अमेरिकी संबंधों को और मजबूत बनाने तथा मिलकर काम करने पर सहमति जताई।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन के बीच भी फोन पर बात हुई थी। इस दौरान दोनों नेताओं ने महत्वपूर्ण द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की और आतंकवाद से निपटने में सहयोग बढ़ाने का संकल्प जताया।

यह भी पढ़ें :

अमेरिकी राष्ट्रपति से दोबारा मिलने को तैयार किम जोंग-उन, साथ में दी चेतावनी

G20 Summit : मोदी-ट्रंप-आबे में पहली त्रिपक्षीय वार्ता; PM ने कहा- जेएआई का मतलब जीत

रूसी राजनयिक सूत्रों ने बताया कि बातचीत के दौरान पुतिन ने आगामी संसदीय चुनावों में मोदी की सफलता की कामना की।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि दोनों नेताओं ने पिछले वर्ष में दोनों देशों के बीच विशेष रणनीतिक साझेदारी के परिणामस्‍वरूप प्रमुख उपलब्‍धियों पर खुशी व्‍यक्‍त की। दोनों नेताओं ने मई में सोची में और अक्‍टूबर में वार्षिक सम्‍मेलन के लिए राष्‍ट्रपति पुतिन के नई दिल्‍ली के दौरे के अवसर पर विविध चर्चाओं की सफलता पर चर्चा की।