जयपुर : राजस्थान में चुनाव नजदीक आते ही भाजपा और कांग्रेस ने प्रचार के लिए चुनावी बिगुल बजा दिया है। दोनों ही पार्टियां वोटरों को लुभाने के लिए तूफानी प्रचार में जुट गई हैं। इसी कड़ी में शनिवार को कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र झालरापाटन का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। कांग्रेस का दावा है कि लोगों ने वसुंधरा राजे के 5 साल के प्रदर्शन पर रोष जताया।

अभियान के जरिये कांग्रेस ने जाहिर तौर पर भाजपा के खिलाफ एक बड़ा दांव खेला है, लेकिन हैरानी की बात है भाजपा अभी तक इसका जवाब नहीं दे पाई है। राजस्थान का रिपोर्ट कार्ड अभियान के जरिये कांग्रेस ने भाजपा के प्रतिनिधित्व वाले निर्वाचन क्षेत्रों के व्यक्तिगत प्रदर्शन और वसुंधरा राजे सरकार के 5 सालों के समग्र प्रदर्शन को तथ्यों और आंकड़ों को दिखाने की कोशिश है। जमीनी स्तर पर मुद्दों और समस्याओं के साथ विधानसभा क्षेत्रों की पड़ताल कांग्रेस पार्टी के आगामी चुनावों के लिए की गई तैयारी साफ दिखा रही है।

यह भी पढे: राजस्‍थान के चुनावी समर में फिर ‘जिंदा’ हो गईं भंवरी देवी, जानिए कैसे !

राजस्थान में भाजपा और कांग्रेस ने इन सीटों पर उतारे एक ही जाति के उम्मीदवार

ट्विटर पर भाजपा के राजस्थान पेज को अब तक तकरीबन 10.4 लाख हिट्स मिले हैं, जबकि राजस्थान का रिपोर्ट कार्ड को अब तक फेसबुक पर 6.9 मिलियन हिट्स मिल चुके हैं। इस आंकड़े में यूजर्स के शेयर, लाइक भी शामिल हैं।

वसुंधरा राजे के गढ़ की रिपोर्ट में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री को पूरी तरह नाकाम साबित कर दिया है।

विज्ञप्ति के मुताबिक, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट रविवार को मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे।

सोशल मीडिया पर मिल रही सकारात्मक प्रतिक्रियाएं यूं तो कांग्रेस के पक्ष में नजर आ रही है, लेकिन राजस्थान के सिंहासन पर जनता किसे काबिज करेगी, यह तो आने वाली 11 दिसंबर को ही साफ हो पाएगा।