वाशिंगटन : हिलेरी क्लिंटन का कहना है कि उनके पति और पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन का व्हाइट हाउस की इंटर्न मोनिका लेविंस्की के साथ प्रेम संबंध सत्ता का दुरुपयोग नहीं था और पूरे कांड के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति पद से इस्तीफा ना देना सही निर्णय था।

इस दो दशक पुराने मामले ने ‘मी टू' अभियान के तहत एक बार फिर तूल पकड़ा है। आलोचकों का कहना है कि तत्कालीन राष्ट्रपति और एक इंटर्न के बीच संबंधों का आपसी सहमति पर बनना असंभव है।

पूर्व राष्ट्रपति उम्मीदवार और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी ने रविवार को 'सीबीएस न्यूज' से बातचीत में इन सभी बातों से असहमति जतायी। उनके पति एवं तत्कालीन राष्ट्रपति को क्या इस्तीफा दे देना चाहिए था, के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘बिल्कुल नहीं।''

इसे भी पढ़ें :

हिलेरी ने खोला राज, इसलिए हुई राष्ट्रपति चुनाव में हार

यौन उत्पीड़न के खिलाफ तीन लड़कियों ने सच को किया साझा, हुआ वायरल

संबंध के सत्ता का दुरुपयोग होने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘नहीं।'' साथ ही उन्होंने कहा कि लेविंस्की जो उस समय 22 वर्ष की थी, ‘‘वह एक व्यस्क'' थी। उन्होंने कहा कि मामले में जांच हो चुकी है और जैसा कि मेरा विश्वास है, जांच सही हुयी थी।