संयुक्त राष्ट्र: भारत ने संयुक्त राष्ट्र की सर्वोच्च मानवाधिकार इकाई संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) का चुनाव बहुमत के साथ जीत लिया है। इसका कार्यकाल तीन साल के लिए होगा जो 1 जनवरी 2019 से शुरू होगा।

एशिया पसिफिक क्षेत्र कैटिगरी में भारत को 188 वोट मिले हैं, जो कि सभी कैंडिडेट्स में सबसे ज्यादा रहा। 193 सदस्यों की यूएन जनरल असेंबली ने नए सदस्यों के लिए चुनाव किया था। गुप्त चुनाव के जरिए 18 नए सदस्य पूर्ण बहुमत से चुने गए हैं। किसी भी देश को यूएनएचआरसी का सदस्य बनने के लिए न्यूनतम 97 वोट की जरूरत होती है।

भारत ने एशिया-पसिफिक क्षेत्र में अपनी सीट पक्की की है। वहीं इस कैटिगरी में भारत के अलावा बहरीन, बांग्लादेश, फिजी और फिलिपींस भी चुनाव में अपना हाथ आजमा रहे थे। वोटिंग में इन पांच देशों में भारत को सबसे ज्यादा 188 वोट मिले। चूंकि पांच सीटों के लिए पांच देश चुनाव लड़ रहे थे, ऐसे में भारत का चुनाव जीतना तय माना जा रहा था।

इसे भी पढ़ें :

निक्की हेली ने संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत के पद से इस्तीफा दिया

UN ने कश्मीर पर रिपोर्ट जारी कर भारत पर लगाया आरोप, विदेश मंत्रालय ने दी तीखी प्रतिक्रिया

संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत के स्‍थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि भारत की जीत अंतराष्‍ट्रीय समुदाय में भारत की मजबूत स्थिति को दर्शाती है।

चुनाव के बाद अकबरुद्दीन ने ट्वीट किया, "एक सुखद नतीजे के लिए वोट कर रहा हूं। संयुक्‍त राष्‍ट्र में हमारे सभी दोस्‍तों को समर्थन के लिए धन्‍यवाद, भारत ने मानवाधिकार परिषद की सीट सभी उम्‍मीदवारों में से सर्वाधिक मतों से जीत ली है।"