हैदराबाद : अमीरपेट मेट्रो स्टेशन पर छत का टुकड़ा गिर जाने के कारण एक महिला की मौत हो गई थी। मृतक महिला की पहचान कूकटपल्ली निवासी मौनिका के रूप में की गई। मौनिका की दो महीने पहले ही शादी हुई थी।

रविवार शाम को बारिश होने के कारण मौनिका अमीरपेट स्टेशन पर छत के नीचे जाकर ठहर गई। इसी दौरान छत का टुकड़ा उसके सिर पर गिर गया। इस घटना में उसके सिर पर गंभीर चोट लगी और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई थी।

मेट्रो स्टेशन पर दुर्घटनावश मौत होने की वजह से मृतक मौनिका के परिजन एल एंड टी अधिकारियों से पचास लाख मुआवजे की मांग कर रहे हैं।

वहीं अधिकारियों का कहना है कि दुर्घटनावश मौत होने से वे सिर्फ इंश्योरेंस का पैसा ही देंगे। साथ ही अधिकारियों ने ये कहा कि इंश्योरेंस का पैसा भी दे सकते हैं या नहीं देखा जाएगा।

अधिकारियों के इस बर्ताव से परिजनों ने आक्रोश व्यक्त किया। मृतक के परिजन को नौकरी देने की बात पर भी कोई जानकारी न मिलने पर परिजन गुस्सा हुए।

इसे भी पढ़ें :

अमीरपेट मेट्रो स्टेशन में छत का टुकड़ा गिरने से महिला की दर्दनाक मौत, दो महीने पहले हुई थी शादी

उनके इस गुस्से व आक्रोश को देखकर अधिकारियों ने बात बदली और कहा कि मौनिका के परिवार को 20 लाख मुआवजा साथ ही परिवार के किसी एक सदस्य को नौकरी दी जाएगी।

मृतक मौनिका केपीएचबी कॉलोनी के सॉफ्टवेयर कर्मचारी हरिकांत रेड्डी की पत्नी थी जिसकी अमीरपेट मेट्रो स्टेशन पर छत का टुकड़ा गिरने से मौत हो गई।

मौनिका अपनी करीबी रिश्तेदार मुन्नी के लिए अमीरपेट में हॉस्टल देखने गई थी। वह अमीरपेट में मेट्रो से उतरी। तभी वह मुन्नी के साथ सारथी स्टूडियो की तरफ मेट्रो स्टेशन की सीढ़ियां उतरकर पिल्लर के नीचे जैसे ही गई उन पर छत का टुकड़ा गिरा। सिर पर गहरी चोट लगने से मौनिका की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।