हैदराबाद : पूर्व सांसद मल्लु रवि ने गुस्से में आग उगलते हुए कहा कि, "रात के समय अंबेडकर की मूर्ति को किसी ने निकालकर कचरे के डिब्बे में फेंक दिया। इसी विषय में हमने राज्यपाल से भी मुलाकात की, सर्वदलीय बैठक भी की गई। पर अब तक सरकार की ओर से इस विषय को लेकर किसी तरह की कोई कार्यवाही नहीं की गई है और हम इस बात को यूं ही नहीं जाने देंगे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वी .हनुमंतराव मंगलवार की सुबह अंबेडकर की मूर्ति फिर से स्थापित करने के लिए गए तो लॉरी के साथ ही मूर्ति भी लेकर गए थे । उनके साथ लगभग 60 लोग भी गए जिन्हें पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया।

इसे भी पढ़ें :

हैदराबाद: पूर्व सांसद हनुमंत राव और हर्ष कुमार हिरासत में, अंबेडकर की मूर्ति लगाने पर बवाल

मल्लु रवि ने केसीआर को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इस सबसे तो यही पता चलता है कि केसीआर दलित विरोधी है।

तेलंगाना बनने से पहले कहा गया था कि पहला मुख्यमंत्री दलित होगा, पर ऐसा किया नहीं गया, इसके बाद उप-मुख्यमंत्री तो दलित को बनाया पर बिना किसी कारण हटा भी लिया गया। इससे साफतौर पर यही पता चलता है कि केसीआर दलित विरोधी है।

अब हमारी डिमांड ये है कि अंबेडकर की मूर्ति को हटा दिया गया है तो इसे सरकार को ही फिर से वहीं स्थापित भी करना चाहिए।