पटना : 350वें प्रकाशोत्सव में ऑटो वाले भी बोलेंगे ‘सत श्री अकाल’

फाइल फोटो। - Sakshi Samachar

पटना : बिहार की राजधानी पटना पहुंचने पर अगर आपको कोई पंजाबी भाषा का अभिवादन 'सत श्री अकाल' कहे तो आपको अजीब लगेगा, मगर गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश पर्व के आयोजन पर अगर आप पटना आ रहे हैं, तो यह तय मानिए कि ऑटो वाले भी आपका अभिवादन पंजाबी भाषा में ही करेंगे और 'सत श्री अकाल' बोलेंगे।

गुरु गोविंद सिंह की जन्मस्थली पटना में प्रकाशोत्सव नए वर्ष के पहले सप्ताह में होने जा रहा है। प्रकाशोत्सव में आने वाले सिख संप्रदाय के श्रद्धालुओं से पंजाबी भाषा में बात करने के लिए 200 से ज्यादा शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया है।

अभी से देश-विदेश के सिख श्रद्धालु पटना पहुंचने लगे हैं। ऐसे में पटना आने वाले श्रद्धालुओं को एक सुखद अनुभूति का एहसास दिलाने के लिए सरकार और प्रशासन के साथ ही राजधानी के ऑटो चालक भी तैयार हैं।

पटना महानगर ऑटो चालक संघ के अध्यक्ष संजय सिंह बताते हैं कि प्रकाशोत्सव में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी न हो, इसके लिए ऑटो चालकों ने संकल्प लिया है। ऑटो चालक सिख श्रद्धालुओं को अपनी ऑटो में बैठाने के पहले 'सत श्री अकाल' कहकर अभिवादन करेंगे।

प्रकाशोत्सव में आने वाले लाखों सिख श्रद्धालुओं से बातचीत करने के लिए पटना के 225 सरकारी शिक्षकों को पंजाबी भाषा में बात करने के लिए सिखाया गया है तथा उन्हें प्रशिक्षित किया गया है।

पटना जिला प्रशासन की ओर से 'आओ सीखें पंजाबी, करें मेहमानों का स्वागत' के तहत 74 शब्द का एक वाक्य तैयार किया गया था। प्रकाशोत्सव में देश-विदेश से आने वाले सिख श्रद्धालुओं की सुरक्षा व सुविधाओं को मद्देनजर रखते हुए जिला प्रशासन की ओर से पटना के विभिन्न स्थानों पर हेल्प डेस्क बनाए गए हैं। जहां पटना जिला के इन 225 शिक्षकों को तैनात किया जाएगा।

पटना के जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) एम़ दास ने आईएएनएस को बताया कि किस हेल्प डेस्क पर कौन शिक्षक रहेंगे, इसकी सूची भी तैयार कर ली गई है।

उन्होंने बताया कि आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बनाए गए 71 हेल्प डेस्कों में इन 225 शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति की गई है। इसमें से 12 शिक्षकों को रिजर्व रखा गया है। कम से कम सभी हेल्प डेस्कों पर ऐसे एक शिक्षक की तैनाती की गई है। तीन शिफ्ट में शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी।

दास ने बताया कि ये सभी शिक्षक आने वाले सिख श्रद्धालुओं का अभिवादन पंजाबी भाषा में करेंगे, उनकी परेशानियों को समझेंगे और उन्हें मदद की पेशकश करेंगे।

पटना में गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 350वें प्रकाशोत्सव में आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए पटना को सजाया-संवारा जा रहा है।

प्रकाशोत्सव का मुख्य आयोजन पांच जनवरी को होगा, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने का कार्यक्रम है। इस दिन गांधी मैदान में मुख्य दीवान सजेगा।

इससे पहले एक से पांच जनवरी तक पटना के चार बड़े प्रेक्षागृहों में सांस्कृतिक उत्सव मनाया जाएगा। तीन जनवरी को मार्शल आर्ट, गतका पार्टी अपना जौहर दिखाएंगे। चार जनवरी को गांधी मैदान से नगर कीर्तन निकलेगा।

Advertisement
Back to Top