Wed Aug 22, 2018 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले में कृष्णा नदी में नहाने उतरे 3 विद्यार्थियों की मौत, बचाए गए 4 छात्र
मुंबई के परेल में क्रिस्टल टावर की 13वीं मंजिल पर लगी भीषण आग
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हर राज्य के पार्टी अध्यक्षों को सौंपेंगे वाजपेयी के अस्थि कलश
एशियाई खेल- 2018 में हॉकी में भारत आज हॉंगकॉंग से भिड़ेगा
सीबीआई ने नरेंद्र दाभोलकर हत्या मामले में अब तक किया तीन लोगों को गिरफ्तार

गेस्ट कॉलम

Raksha Bandhan 2018 : यह है अबकी बार रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त, ऐसे करें तैयारी
गेस्ट कॉलम

Raksha Bandhan 2018 : यह है अबकी बार रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त, ऐसे करें तैयारी

हमारे देश में और विदेश में भी रहने वाले भारतीय हिन्दू पंचांग के अनुसार श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन रक्षाबंधन के त्यौहार धूमधाम से मनाया करते हैं।

पहली बार संसद में इन 2 सांसदों ने बचाई थी भाजपा व अटल की लाज, आज हैं ‘गुमनाम’
राष्ट्रीय राजनीति

पहली बार संसद में इन 2 सांसदों ने बचाई थी भाजपा व अटल की लाज, आज हैं ‘गुमनाम’

भारतीय जनता पार्टी के रूप में नई पार्टी के गठन के बाद जब 1984 के चुनाव में भाजपा कमल सिंबल पर चुनाव लड़ा तो पार्टी की कमान अटल बिहारी वाजपेयी के हाथ में थी और देशभर में कांग्रेस के पक्ष में सहानुभूति की लहर और राजीव गांधी की विरोधियों को हराने की रणनीति के कारण भाजपा को दो सीटें मिली थी

अटल जी का हैदराबाद से कैसा रहा रिश्ता, पढ़ें यह खबर
तेलंगाना राजनीति

अटल जी का हैदराबाद से कैसा रहा रिश्ता, पढ़ें यह खबर

वर्ष 1996 में धूलपेट मिनी स्टेडियम में बीजेपी नेता लक्ष्मण सिंग जमादार के नेतृत्व में आयोजित केसरी कुस्ती प्रतियोगिता में अटल जी मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया था। तब संचालकों ने अटल को तलवार से सम्मान किया था।

अटल थे, अटल हैं, अटल रहेंगे वाजपेयी के विचार
गेस्ट कॉलम

अटल थे, अटल हैं, अटल रहेंगे वाजपेयी के विचार

अटल बिहारी वाजपेयी साधारण परिवार में जन्मे, साधारण से प्राइमरी स्कूल में पढ़े और साधारण से प्राइमरी स्कूल टीचर के बच्चे हैं। उनके पिता का नाम कृष्ण विहारी वाजपेयी और दादा थे पंडित श्याम लाल वाजपेयी। उन्होंने सारे देश के सामने एक बार कहा था- ‘मैं अटल तो हूं पर ‘बिहारी’ नहीं हूं। तब लोगों ने इसे अजीब ढंग से लिया था।

पूर्व कैदी की श्रद्धांजलि : अटलजी कैदियों के प्रति हमदर्दी रखते थे 
तेलंगाना

पूर्व कैदी की श्रद्धांजलि : अटलजी कैदियों के प्रति हमदर्दी रखते थे 

अटल बिहारी वाजपेयी से  मेरा मिलना सबसे अलग है। मुझे साल तो याद नहीं है, मगर वर्ष 1981-82 की बात होगी। तब मैं चंचलगुडा सेंट्रल जेल में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहा था।

ऐसी है अटल की हमारे देश में पहचान, जानें एक क्लिक में अब तक की पूरी जीवन यात्रा 
राष्ट्रीय

ऐसी है अटल की हमारे देश में पहचान, जानें एक क्लिक में अब तक की पूरी जीवन यात्रा 

भारत के राजनीतिक इतिहास में अटल बिहारी बाजपेयी का संपूर्ण व्यक्तित्व शिखर पुरुष के रूप में दर्ज है। उनकी पहचान एक कुशल राजनीतिज्ञ, प्रशासक, भाषाविद, कवि, पत्रकार व लेखक के रूप में है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की विचारधारा में पले-बढ़े अटल जी राजनीति में उदारवाद और समता एवं समानता के समर्थक माने जाते हैं। उन्होंने विचारधारा की कीलों से कभी अपने को नहीं बांधा।

YSRCP के दलबदलू और वर्तमान टीडीपी नेता खूब काट रहे चांदी, CM ने दी है खुली छूट
गेस्ट कॉलम

YSRCP के दलबदलू और वर्तमान टीडीपी नेता खूब काट रहे चांदी, CM ने दी है खुली छूट

2014 के चुनाव में तेलुगु देशम पार्टी ने लोकलुभावने आश्वासनों के बल पर जीत हासिल कर सत्ता हासिल की थी, लेकिन बाद में उन्हीं आश्वासनों को भुला दिया है। लोगों की समस्याएं जस की तस रह गई। टीडीपी ने समस्याओं के समाधान की बजाय प्रतिपक्ष के विधायकों की खरीदफरोख्त पर अधिक ध्यान दिया। टीडीपी की दलबदलु जनप्रतिनिधियों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है।

राजस्थान में तीज का है खास महत्व, हर साल ऐसे की जाती है तैयारी
गेस्ट कॉलम

राजस्थान में तीज का है खास महत्व, हर साल ऐसे की जाती है तैयारी

राजस्थान में तीज का त्यौहार बड़े उमंग के साथ मनाया जाता है। राजस्थान में तीज पर सबसे खास स्वादिष्ट मिठाई घेवर का आनंद उठाया जाता है।

Teej Special : यह है हमारे देश में तीज के त्यौहार की महत्ता, ऐसे मनाई जाती है तीज
गेस्ट कॉलम

Teej Special : यह है हमारे देश में तीज के त्यौहार की महत्ता, ऐसे मनाई जाती है तीज

तीज के त्यौहार का सदैव बड़े चाव से महिलाएं इंतजार करती हैं। यह त्यौहार बारिश के मौसम में तब मनाया जाता है जब बारिश होने से वातावरण सुहाना हो जाता है और चारों तरफ हरियाली फैल जाती है।

इस तरह भारत का युवा वर्ग तैयार है एक विश्वव्यापी नई युवा क्रांति के लिए ! 
गेस्ट कॉलम

इस तरह भारत का युवा वर्ग तैयार है एक विश्वव्यापी नई युवा क्रांति के लिए ! 

भारत विश्व का सबसे बड़ा प्रजातांत्रिक देश है। आज भारत में दूसरे देशों की तुलना में सबसे ज्यादा युवा हैं। युवा वर्ग वह वर्ग होता है जिसमें 14 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक के लोग शामिल होते हैं। आज भारत देश में इस आयु के लोग सबसे बड़ी संख्या में मौजूद है।

इन गानों को भेजिए अपने खास दोस्तों को और कहिए Happy Friendship day 
गेस्ट कॉलम

इन गानों को भेजिए अपने खास दोस्तों को और कहिए Happy Friendship day 

दोस्ती पर न जानें कितनी फिल्में और गाने बने हैं, जिन्हें आज भी लोगों की जुबान पर गाते-गुनगुनाते हुए सुना जा सकता है और फ्रेंडशिप डे के दिन दोस्तों को भेजा जा सकता है....

प्रत्येक बच्चे को सारी मानवजाति की सेवा के लिए तैयार करें..!
गेस्ट कॉलम

प्रत्येक बच्चे को सारी मानवजाति की सेवा के लिए तैयार करें..!

विश्व के किसी भी एक बच्चे की शक्ल और उसके अंगूठे की छाप किसी दूसरे बच्चे से कभी नहीं मिलती है। ईश्वर ने प्रत्येक बच्चे को अलग एवं विशिष्ट बनाया है। ये बच्चे अपनी अलग-अलग प्रतिभा एवं विशेषता के कारण अपने चुने हुए कार्य क्षेत्र में सबसे सर्वश्रेष्ठ बन सकते हैं।

उज्जैनी महाकाली के रंगम के बारे में जाने यह सच
संपादक की पसंद

उज्जैनी महाकाली के रंगम के बारे में जाने यह सच

बोनालु (त्यौहार) को हैदराबाद में बड़े उत्साह और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। बोनालु की जितनी प्रमुखता है उससे कई अधिक रंगम (भविष्यवाणी) की है। रंगम को आध्यात्मिक मंच भी कहा जाता है। रंगम नगरवासियों के लिए हर साल एक नया संदेश लेकर आता है। नगर के लाखों लोग रंगम सुनने के लिए बेसब्री से इंतजार करते हैं, क्योंकि वो बातें उज्जैनी महांकाली माता की मधुरवाणी होती हैं। देवी की मधुरवाणी सभी को सुख और शांति प्रदान करती है।

आज है सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, इन राशियों पर पड़ेगा कुप्रभाव
राष्ट्रीय

आज है सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, इन राशियों पर पड़ेगा कुप्रभाव

2018 साल का दूसरा चंद्रग्रहण 27 जुलाई को पड़ने जा रहा है। ये चंद्रग्रहण सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण है। यह चंद्रग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा। इससे पहले 31 जनवरी को पहला चंद्रग्रहण लगा था।

 150 साल बाद ऐसा चंद्रग्रहण, पृथ्वी से साफ दिखेगा मंगल
राष्ट्रीय

150 साल बाद ऐसा चंद्रग्रहण, पृथ्वी से साफ दिखेगा मंगल

27 जुलाई को 21वीं सदी का सबसे लंबी अवधि वाला चंद्रग्रहण लगने वाला है। जानकारी के मुताबिक उस रात को मंगल ग्रह पृथ्वी के सबसे ज्यादा पास होगा।

इसलिए गुरु पूर्णिमा को कहते हैं व्यास पूर्णिमा, यह है ऐतिहासिक महत्व  
संपादक की पसंद

इसलिए गुरु पूर्णिमा को कहते हैं व्यास पूर्णिमा, यह है ऐतिहासिक महत्व  

6 शास्त्रों एवं 18 पुराणों के रचयिता वेदव्यास जी ने गुरु के सम्मान में विशेष पर्व मनाने के लिये आषाढ़ मास की पूर्णिमा को चुना। इसी कारण इस गुरु पूर्णिमा को ‘व्यास पूर्णिमा’ भी कहते हैं।

आज के हालात के लिए संदेश है ‘काला’ फिल्म की कहानी,  बार-बार कोड किये जाने की जरूरत
गेस्ट कॉलम

आज के हालात के लिए संदेश है ‘काला’ फिल्म की कहानी, बार-बार कोड किये जाने की जरूरत

यह फिल्म ब्राह्मणवादी संस्कृति की जगह दलित बहुजन संस्कृति को पेश करती है और पहली बार मुख्यधारा की कोई फिल्म बहुजनों के आत्मा की बात करती है.

आज है देवशयनी एकादशी, पूजा पाठ करने वाले इन बातों का जरूर रखें ध्यान
संपादक की पसंद

आज है देवशयनी एकादशी, पूजा पाठ करने वाले इन बातों का जरूर रखें ध्यान

हिन्दू धर्मशास्त्रों में ऐसा माना जाता है कि ‘देवशयनी एकादशी’ के दिन सभी देवताओं के साथ साथ उनके अधिपति विष्णु भी सो जाते हैं और लगभग चार माह बाद ‘देवोत्थान एकादशी’ को जागते हैं।

बोनालु उत्सव की यह है पौराणिक महत्ता और इसलिए बरसात में मनाते हैं यह त्यौहार
तेलंगाना

बोनालु उत्सव की यह है पौराणिक महत्ता और इसलिए बरसात में मनाते हैं यह त्यौहार

बोनालु उत्सव तेलंगाना के अनेक प्रसिद्ध त्योहारों में एक है। बोनालु हर साल आषाढ़ माह में मनाया जाता है। अब सवाल उठता है कि बोनालु उत्सव को आषाढ़ माह में क्यों मनाया जाता है? क्योंकि आषाढ़ माह में संक्रमण बीमारियां फैलती है। बीमारीका मुख्य कारण मांसाहार है।

‘मध्यप्रदेश में सीएम के चेहरे के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया से बेहतर कोई और विकल्प नहीं’
गेस्ट कॉलम

‘मध्यप्रदेश में सीएम के चेहरे के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया से बेहतर कोई और विकल्प नहीं’

मध्य प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस में समन्वय के लिए बनाई गई समन्वय समिति के सदस्य और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रवक्ता सत्यव्रत चतुर्वेदी का कहना है कि राज्य में मुख्यमंत्री पद के लिए पार्टी का चेहरा सिर्फ ज्योतिरादित्य सिंधिया ही हो सकते हैं, उनका विकल्प कोई और नहीं हो सकता।

‘पारिवारिक एकता’ का विकसित स्वरूप ‘विश्व एकता’ की स्थापना है..!
गेस्ट कॉलम

‘पारिवारिक एकता’ का विकसित स्वरूप ‘विश्व एकता’ की स्थापना है..!

पारिवारिक एकता को दूसरे महत्वपूर्ण विषयों से अधिक प्राथमिकता देनी चाहिए। किसी भी कार्य में परिवार के प्रत्येक सदस्य की सलाह लेकर पूरी तरह से विचार-विमर्श करके पूर्ण संतुलन और जागरूकता को बढ़ावा देना चाहिए।

सोशल मीडिया पर यूं हीं नहीं ट्रेंड करती मधुबनी पेंटिंग, रामायण काल से जुड़ा है इतिहास
गेस्ट कॉलम

सोशल मीडिया पर यूं हीं नहीं ट्रेंड करती मधुबनी पेंटिंग, रामायण काल से जुड़ा है इतिहास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में जब अपने नेपाल दौरे के दौरान जनकपुर गए थे तो मिथिला पेंटिंग वाले दुपट्टे के साथ उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी ट्रेंड किया था। राजनीतिक पंडित इस तस्वीर का अलग निहितार्थ लगा रहे हैं।

नीतीश-शाह तय करेंगे बिहार में बड़ा भाई कौन! 
गेस्ट कॉलम

नीतीश-शाह तय करेंगे बिहार में बड़ा भाई कौन! 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह गुरुवार को बिहार की राजधानी पटना पहुंचने वाले हैं। अमित शाह के बिहार दौरे के दौरान मुख्यमंत्री और जनता दल (यूनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार से सुबह के नाश्ते और रात्रि भोज में उनकी मुलाकात तय है। इन दोनों नेताओं के मुलाकात को बिहार की राजनीति के लिए अहम माना जा रहा है।

 रजत शर्मा : खुदी को कर बुलंद इतना......
गेस्ट कॉलम

रजत शर्मा : खुदी को कर बुलंद इतना......

टेलीविजन के पर्दे पर बड़े-बड़े नेताओं, अभिनेताओं, संतों और खिलाड़ियों को कटघरे में बिठाकर उनपर संगीन इलजाम लगाने वाले रजत शर्मा अब एक नयी पारी खेलने के लिए तैयार हैं। दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष पद का चुनाव जीतना चुनावी राजनीति में उनका पहला कदम कहा जा सकता है।

सिर्फ YSR का ही नहीं, आज है लोगों के भरोसे का भी जन्मदिवस
संपादक की पसंद

सिर्फ YSR का ही नहीं, आज है लोगों के भरोसे का भी जन्मदिवस

दिवंगत वाईएस राजशेखर रेड्डी (वाईएसआर) की जयंती यानी एक विश्वास, एक भरोसे का जन्म दिवस है। यह सच है। इसमें कोई संदेह नहीं है। वाईएसआर के लिए हम सब एक परिवार हैं। यूं कहा जाएं तो और अच्छा होगा कि वे हमारे परिवार के मुखिया थे।

करोड़पतियों ने पार्टियों को इलेक्टोरल बॉण्ड के जरिए दिए 384 करोड़ रुपये, 3 महीने का आंकड़ा
गेस्ट कॉलम

करोड़पतियों ने पार्टियों को इलेक्टोरल बॉण्ड के जरिए दिए 384 करोड़ रुपये, 3 महीने का आंकड़ा

बीते तीन माह में दानदाताओं ने 438 करोड़ रुपये से ज्यादा के इलेक्टोरल बॉण्ड राजनीतिक दलों को दान में देने के लिए खरीदे हैं, इनमें से 384 बॉण्ड एक करोड़ के हैं।

आपके सामाजिक बनने में मददगार हो सकते हैं ये 7 टिप्स  
जीवन शैली

आपके सामाजिक बनने में मददगार हो सकते हैं ये 7 टिप्स  

अगर आप एक ही समय में कई लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचने में महारत हासिल करना चाहते हैं या अपने आप को एक बहिर्मुखी बनाना चाहते हैं तो ये कुछ बातें हर जगह लागू होती हैं।

अरुणाचल के सुदूर देहात में अमेरिकी पिता-पुत्री सिखा रहे बच्चों को कंप्यूटर 
गेस्ट कॉलम

अरुणाचल के सुदूर देहात में अमेरिकी पिता-पुत्री सिखा रहे बच्चों को कंप्यूटर 

नेशनल ज्योग्राफिक के अन्वेषक माइक लिबेकी और उनकी 14 वर्षीया बेटी लिलियाना ने दुनिया के कई दूर-दराज के इलाकों की यात्राएं की हैं, मगर समुद्र से काफी दूर अरुणाचल के ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों का सैर करना अमेरिकी पिता-पुत्री के लिए बेहद अनोखा रहा है। पिता-पुत्री बहुधा मानवतावादी व परोपकार के अभियानों के लिए सुदूरवर्ती इलाकों की खाक छानते रहे हैं।

छोटे-गरीब किसानों के लिए काफी मददगार हैं भरत भाई अग्रावत के यंत्र 
गेस्ट कॉलम

छोटे-गरीब किसानों के लिए काफी मददगार हैं भरत भाई अग्रावत के यंत्र 

गुजरात के रहने वाले भरत भाई अग्रावत किसानों के लिए ऐसे नित नए प्रयोग करते रहते हैं, जिनसे खेती में गरीब और कम जमीन वाले किसानों को भी यंत्रों का उपयोग करने की सहूलियत मिल सकें।

अगले चुनाव में नहीं करेंगे किसी से गठबंधन : वाईएस जगन 
गेस्ट कॉलम

अगले चुनाव में नहीं करेंगे किसी से गठबंधन : वाईएस जगन 

चंद्रबाबू नायडू राज्य में 20 लाख करोड़ का निवेश होने और 40 लाख लोगों को रोजगार मिलने का प्रचार कर रहे हैं, जबकि केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के आंकड़ों के मुताबिक पिछले चार सालों में आंध्र प्रदेश में 20 हजार करोड़ रुपये का भी निवेश नहीं हुआ है।

 संस्मरण: ओरछा  में भगवान राम को दिया जाता है ‘गार्ड ऑफ ऑनर’, ललितपुर पावर स्टेशन है शान
गेस्ट कॉलम

संस्मरण: ओरछा में भगवान राम को दिया जाता है ‘गार्ड ऑफ ऑनर’, ललितपुर पावर स्टेशन है शान

बुंदेलखंड का भव्य इतिहास रहा है। ललितपुर पावर प्लांट की आधुनिकता और ओरछा इलाके का इतिहास वास्तव में आधुनिकता और शौर्यपूर्ण इतिहास की गाथा है। 

डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर विशेष
गेस्ट कॉलम

डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर विशेष

डॉ॰ श्यामाप्रसाद मुखर्जी कौन नहीं जानता। वे एक महान चिन्तक थे। देश के लिए कुछ भी करने की लगन थी। ऐसे महान चिंतक की आज (23 जून) पुण्य तिथि है। आइए ऐसे महान व्यक्ति को हम श्रद्धा सुमन अर्पित करते है। 

पांरपरिक योग को टक्कर देते योग के ‘आधुनिक’ अंदाज
गेस्ट कॉलम

पांरपरिक योग को टक्कर देते योग के ‘आधुनिक’ अंदाज

परंपरागत रूप से शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक संतुलन के लिए किए जाने वाले योग को शांत वातावरण, स्वच्छ हवा में किया जाना उचित माना जाता है, लेकिन पारंपरिक बेड़ियों को तोड़ते हुए इन दिनों इसके अलग एवं अनोखे रूप लोगों को आकर्षित कर रहें हैं, जिनमें बियर योग, डॉग योग य ‘डोगा’, आर्टिस्टिक योग, एरियल योग, गोट योग और एक्रोयोग आदि काफी लोकप्रिय हैं।

जम्मू कश्मीर : ऐसा ही होना था BJP-PDP गठबंधन सरकार का हश्र
गेस्ट कॉलम

जम्मू कश्मीर : ऐसा ही होना था BJP-PDP गठबंधन सरकार का हश्र

जम्मू कश्मीर में भाजपा के सरकार से हाथ खींचने के साथ ही तीन साल से चली आ रही भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार का अंत हो गया। भाजपा के समर्थन वापस लेते ही महबूबा मुफ्ती की सरकार ताश के पत्ते की तरह भरभरा कर गिर गई और मंगलवार को एक नाटकीय घटनाक्रम में इस गठबंधन का अंत हो गया। 

अंतरजातीय और अंतर-धार्मिक विवाह को लेकर महाराष्ट्र सरकार का प्रगतिशील कदम
गेस्ट कॉलम

अंतरजातीय और अंतर-धार्मिक विवाह को लेकर महाराष्ट्र सरकार का प्रगतिशील कदम

महाराष्ट्र सरकार अंतरजातीय और अंतरधार्मिक विवाह को प्रोत्साहित करने के लिए कानून बनाने पर विचार कर रही है ताकि अपनी जाति, धर्म से बाहर प्रेम विवाह करने वाले जोड़ों को सुरक्षा प्रदान किया जा सके।