नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव के देखते हुए फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी WhatsApp ने भारत में फैक्ट चेकिंग सर्विस लॉन्च की है। अगर आपको ऐसा लगता है कि WhatsApp पर फेक मैसेज आया है तो आप इसे Checkpoint Tipline पर भेज सकते हैं जो फेक मैसेज को वेरिफाई करेगी।

WhatsApp के इस नए फीचर के तहत आप 9643000888 नंबर पर कोई ऐसे मैसेज फॉरवर्ड कर सकते हैं जिस पर आपको शक है। टीम खबरों को वेरिफाई करेगी और सच या झूठ है ये बताएगी। फैक्ट चेक पांच लैंग्वेज को सपोर्ट करता है, जिसमें अंग्रेसी, हिन्दी, तेलुगू, बंगाली और मलयालम है। इसके तहत टेक्स्ट, वीडिय और इमेज का वेरिफिकेशन किया जा सकता है।

साथ ही WhatsApp ने ग्रुप चैटिंग के लिए प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किया है। नए अपडेट के बाद किसी भी व्हाट्सऐप ग्रुप का एडमिन किसी को भी उसकी इजाजत के बिना ग्रुप में एड नहीं कर पाएगा। ग्रुप में किसी को जोड़ने से पहले उसे उस शख्स की इजाजत लेनी होगी और इसके लिए एक इनावइट भेजना होगा।

इसे भी पढ़ें :

Facebook जल्द लॉन्च करेगा ‘न्यूज टैब’, जानें पत्रकारों को कैसे होगा फायदा

इसके लिए सबसे पहले अपने व्हाट्सऐप ऐप को अपडेट करें। इसके बाद ऐप को ओपन करें और इस स्टेप को फॉलो करें। Account > Privacy > Groups इसके बाद आपको तीन विकल्प मिलेंगे जिनमें Nobody, My Contacts और Everyone शामिल हैं। इनमें से यदि आप Nobody के विकल्प का चयन करते हैं तो आपको कोई भी किसी ग्रुप में एड नहीं कर पाएगा।