कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को अहोई अष्टमी का त्योहार मनाया जाता है। इस बार अहोई अष्टमी 21 अक्टूबर सोमवार को है।

इस दिन पुत्रवती महिलाएं दिन भर संतान की खुशहाली के लिए व्रत करती हैं और शाम में अहोई माता की पूजा करती है और फिर तारों को अर्घ्य देकर व्रत खोला जाता है।

इस दिन व्रत खोलने के लिए और अहोई माता को भोग लगाने के लिए कई खास चीजें बनाई जाती है। तो आप व्रत खोलने के लिए खास खस्ता आलू पापड़ी मसाला मठरी बना सकती हैं।

आइये जानते हैं घर पर कैसे बनाई जाए खस्ता आलू पापड़ी मसाला मठरी ....

सामग्री :

मैदा 1 कप (125 ग्राम)

आलू आधा कप (उबले और कद्दूकस किए हुए)

तेल 2 बड़े चम्मच

अजवायन 1 छोटा चम्मच

नमक स्वादानुसार

तलने के लिए तेल

विधि :

आलू पापड़ी मसाला मठरी बनाने के लिए सबसे पहले एक बड़े बर्तन में मैदा और पहले उबले और मैश किए आलू को डालें।

अब उसमें नमक, अजवायन, तेल डालकर मिक्स करते हुए एक सख्त आटा गूंध लें।

इसके बाद आटे को 15 से 20 मिनट तक सेट होने के लिए अलग रख दें।

इसे भी पढ़ें :

अहोई अष्टमी पर माता को लगाएं चावल के आटे के मालपुए का भोग, घर पर ऐसे बनाएं

शरद पूर्णिमा पर यूं बनाएं स्वादिष्ट शाही व केसरिया खीर, चंद्रमा को लगाएं भोग

तय समय के बाद आटे की छोटी-छोटी लोईयां तोड़ें और एक-एक करके छोटी और गोल पूरियां बना लें। अब इन पूरियों पर कांटे की मदद से कुछ निशान बनाएं।

इसके बाद एक कड़ाही में तेल गर्म करें और फिर उसमें पहले से बेली गई मठ्ठियों को एक-एक करके गर्म तेल में डालें। अब धीमी आंच पर मठ्ठी को दोनों तरफ से सुनहरा होने तक सेंक लें।

अब तैयार आलू पापड़ी मसाला मठ्ठी को प्लेट में निकालें और गर्मागर्म या ठंडा सर्व करें। साथ ही आप भी व्रत खोलने के बाद इसे खा सकती हैं।