तीखे पर निराले हैं यहां के जायके, हैदराबाद आकर इन डिशेज को जरूर चखें

कान्सेप्ट फोटो  - Sakshi Samachar

हैदराबाद : दक्षिण भारत के राज्य तेलंगाना वैसे तो कई चीजों के लिए प्रसिद्ध है, लेकिन यहां के स्थानीय व्यंजन भी काफी प्रसिद्ध हैं, जिसे खाने के बाद कोई भी इसका स्वाद आसानी से नहीं भूल सकता है। यहां के खाने में मिर्च का भरपूर इस्तेमाल करते हैं। जिससे आप तीखे खाने का आनंद भी आसानी से ले सकते हैं।

अगर हैदराबाद की बात करें तो यहां के खाने में नॉन-वेज की भरमार है, चिकन और मटन की मसालों वाली डिशेज़ हो या कीमा, ग्रेवी, बोनलेस, सभी तरह कि लज्ज़त यहां मिलेगी। अगर आप हैदराबाद आएं तो इन डिशेज को जरूर चखें

हैदराबादी बिरयानी

वैसे तो हैदराबादी बिरयानी का स्वाद अब दिल्ली, मुंबई, बनारस और कोलकाता हर एक जगह लिया जा सकता है लेकिन जो जायका यहां की बिरयानी में मिलता है वो शायद ही कहीं और मिले। यहां आपको चिकन बिरयानी से लेकर मटन बिरयानी, वेज बिरयानी और कई और तरह की बिरयानी मिलेगी। सबसे खास बात तो ये है कि हर बिरयानी का स्वाद तो अलग है ही लेकिन उसकी खूशबू भी अलग ही होती है। हैदराबाद की सबसे अच्छी बिरयानी शदाब कैफे की मानी जाती है। अगर आप चारमीनार घूमने जा रहें हैं तो जरुर ट्राय करें।

मिर्च का सालन

हैदराबादी बिरयानी जितना ही मशहूर है मिर्च का सालन। जिसे यहां आकर बिल्कुल भी न मिस करें। नारियल, मूंगफली और तिल के बीजों से तैयार होने वाली इस जायकेदार ग्रेवी में सबसे खास रोल होता है मिर्च का। हरी-हरी बड़ी मिर्च डिश को तीखा साथ ही साथ चटपटा भी बनाने का काम करती है।

फिरनी

नॉर्थ इंडिया की खीर से मिलती-जुलती है फिरनी। इसे भी ईद के मौके पर ही खासतौर से बनाया जाता है। हालांकि रेस्टोरेंट्स में तो ये डेजर्ट मेन्यू में ऑल टाइम अवेलेबल होता है। दूध और चावल वाली इस डिश में फ्लेवर मिलाकर इसे और ज्यादा जायकेदार बनाया जाता है।

खुबानी का मीठा

खुबानी और बादाम से तैयार इस डिश को डेजर्ट के तौर पर खाया जाता है। हैदराबाद आकर इसे चखना तो आपकी लिस्ट में सबसे ऊपर होना चाहिए। इसके असली स्वाद के लिए ऐसे ही खाएं लेकिन खाने के शौकिन इसे आइसक्रीम और मलाई के साथ खाना पसंद करते हैं।

निहारी

ये एक सूप है जो ईद पर खासतौर से बनाई जाती है। रातभर इसे पकाया जाता है और फिर इसमें मसाले मिक्स कर सर्व किया जाता है। निहारी को पाकिस्तान की नेशनल डिश के नाम से भी जाना जाता है।

कीमा समोसा

शाम की चाय के साथ समोसे का कॉम्बिनेशन शायद ही किसी को पसंद नहीं होगा। लेकिन जहां ज्यादातर जगहों पर आलू वाले समोसे मिलते हैं वहीं हैदराबाद में कीमा समोसा लोगों के मुंह में पानी ला देता है। मीट के बारिक टुकड़ों को चीखे-चटपटे मसालों के साथ मिक्स कर समोसे में भरा जाता है। और गरमा गरम ईरानी चाय के साथ लोग इसे खाना पसंद करते हैं।

मुर्ग दो प्याजा

चिकन दो प्याजा यहां मुर्ग दो प्याजा के नाम से मशहूर है। रोटी और नान के साथ खट्टे-मीठे स्वाद वाली ये डिश उसके जायके को दोगुना कर देती है। इस डिश में चिकन से दोगुनी मात्रा में प्याज का इस्तेमाल किया जाता है। ग्रेवी को गाढ़ा और खट्टा बनाने के लिए बहुत सारा टमाटर भी डाला जाता है।

बोटी कबाब

नॉन वेजिटेरियन्स की पसंदीदा डिशेज में से एक। जिसे स्टॉर्टर के तौर पर लोग खाना पसंद करते हैं। रेस्टोरेंट्स के अलावा स्ट्रीट फूड कॉर्नर पर भी ये आसानी से मिल जाएंगे।

इसके अलावा आप चाय के शौकीन है तो हैदराबाद के ईरानी चाय की चुस्की ले सकते हैं, ऐसी चाय आपको कहीं और नहीं मिलेगी। यहां के लोग चाय के साथ ओस्मानिया बिस्किट को जरुर खाते हैं।

सब्जियों की खास चटनियां-

अगर खाने में चटनी न हो तो खाने का मजा नहीं है। यहां टमाटर, कद्दू, टिंडे और पत्ता गोभी, ये जितनी आम हैं इनसे उतनी ही खास चटनियां बनती हैं। इन चटनियों को बनाने के लिए भी साबुत मिर्च इस्तेमाल की जाती है। किसी भी चटनी को चखकर बताना मुश्किल है कि वह टिंडे से बनी है या कद्दू से। मूंगफली भी हर तरह की चटनी में पीसकर डाली जाती है, जितना थिक यानी मोटा पेस्ट इन चटनियों का होगा, उतना ही ज्यादा इनका स्वाद आएगा।

Advertisement
Back to Top