हैदराबाद : हम सभी जानते हैं कि दिल्ली में स्ट्रीट फूड का प्रमुख स्वादिष्ट व्यंजन यहां की चाट है। यहां चाट पापड़ी और टिक्की तो पुराने समय से ही मशहूर है। यहां कई ऐसे ठीए है, जहां आपको भल्ले-पापड़ी, गोलगप्पे तो मिलेंगे ही, गरमागरम आलू की टिक्की जायके को चटपटा बना देगी। दही, सौंठ के साथ खस्ता कचौड़ी खाने वालों की भड़ लगी रहती है।

दिल्ली के चांदनी चौक में प्रतिदिन मेले जैसा माहौल रहता है। गलियों में हलवाई, नमकीन बेचने वालों तथा परांठे-वालों की कतार में दुकाने हैं। यहां कि मूल चाट में उबले आलू के टुकड़े, करारी तली ब्रेड, दही भल्ले, छोले तथा स्वादिष्ट चाट मसाले मिले होते हैं। इस मिश्रण को मिर्च और सौंठ (सूखी अदरक और इमली की चटनी) से बनी चटनी ताजे हरा धनिया और मट्ठे की दही के साथ सजाकर परोसा जाता है।

इसके अलावा और भी मशहूर व्यंजन हैं, जिनमें आलू की टिक्की भी शामिल है। कुछ चाट की दुकानों जैसे - श्री बालाजी चाट भंडार चांदनी चौक की संभवतः सबसे मशहूर और सर्वश्रेष्ठ दुकान है।

हम विशेषकर चाट-पापड़ी, जिसमें कचालू की चटनी, खस्ता पापड़ी और सौंठ शामिल है, खाने के लिए आपसे आग्रह करेंगे। दूसरी मशहूर दुकान बिशन स्वरूप की है, जो चांदनी चौक की बाईं लेन में है, इसका भी अपना विशेष आकर्षण, विशेष स्वाद है।

इसे भी पढ़ें :

सर्दी का ‘यू-टर्न’: उत्तर भारत में कई जगहों पर बारिश, दिल्ली में गिरे ओले

यहां कि एक और दुकान लाला बाबू चाट भंडार बहुत मशूर है। यहां स्वादिष्ट गोलगप्पों के साथ हींग वाला पाचक जलजीरा भरकर परोसा जाता है। साथ ही आलू और मटर की स्टफ कचौड़ी, गोभी मटर के समोसे, दही-भल्ले तथा मटर-पनीर की टिक्की यहां ज्यादा बिकती है।

इसके अलावे भी कई दुकानें है, जहां पर पाव-भाजी और आलू की टिक्की भी मिलती है। यहां दही-भल्ले भी लोग चाव से खाते हैं। दही-भल्ले उड़द की दाल की पिट्ठी से डीप फ्राई करके बनाए जाते हैं और दही-सौंठ के साथ परोसे जाते हैं।

एक अन्य सुस्वादु व्यंजन कचौड़ी है, जो पिसी दालों और आलू की करी के साथ परोसी जाती है, जो आपके मुंह में पानी ले आएगी। यहां कि उड़द दाल की कचौड़ी भी मशहूर है, जिसे आलू की चटपटी सब्जी के साथ परोसा जाता है। इसके अलावा इन सब चीजों से दिल नहीं भरा है तो शाम के समय गोलगप्पे का भी मजा ले सकते हैं। सड़क के किनारे गोलगप्पे बेचने वाले आपको मिल जाएगा। अगर आप दिल्ली गए हैं तो चांदनी चौक जाना न भूलें।