दिल्ली : भारतीय बुनकर समुदायों की मदद करने और हैंडलूम की शानदार विरासत को सुरक्षित रखने के लिए 'सिक्स यार्डस एंड 365 डेज' ने रविवार को दिल्ली में समारोह का आयोजन किया।

इसका मकसद हैंडलूम साड़ियों के प्रयोग को बढ़ावा देना और बुनकरों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने में मदद करना था। संगठन की संस्थापिका सुनीता बुद्धिराजा ने थीम के अनुसार अपनी 1000वीं साड़ी में सज कर देश की शानदार विरासत का प्रदर्शन किया। समारोह में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी महिलाएं हैंडलूम साड़ियों में सजी-धजी नजर आईं।

ये भी पढ़ें: इन गलतियों की वजह से ज्यादातर लड़कियां रह जाती हैं कुंवारी..अनुमान नहीं, रिसर्च है ये

इस अवसर पर विशेष अतिथि डॉ. सोनल मानसिंह भी मौजूद थीं जिन्होंने हैंडलूम उद्योग के संरक्षण और पुनर्जीवन के इस प्रयास को अद्भुत बताया। पद्म विभूषण एवं राज्य सभा सदस्य डॉ. सोनल ने कहा कि इस प्रयास से पूरी दुनिया में हैंडलूम की मांग बढ़ी है और देश की अर्थव्यवस्था को भी इसका लाभ हुआ है।