हर लड़की का सपना होता है कि उसका होने वाला जीवनसाथी ऐसा हो जो उसकी चाहत की कसौटी पर खरा उतरता हो। उसकी पसंद और नापसंद को अच्छे से समझता हो। लेकिन कई बार लड़कियां अपनी इच्छाओं को पूरा करने के चक्कर में कुछ ऐसी गलतियां कर बैठती हैं जिसकी वजह से उन्हें जिदंगीभर कुंवारी रहकर भुगतना पड़ता है। लड़कियों की इन्ही सब आदतों को लेकर हाल ही में एक शोध किया गया है।

शोध उन लोगों को ध्यान में रखकर की गई जिन्हें अपने लिए पार्टनर ढूंढने में काफी परेशानी उठानी पड़ती है। शोध में कहा गया है कि जिस व्यक्ति का आईक्यू लेवल औसत से ज्यादा होता है, वे 30 साल की उम्र के बाद भी अकेले रहते हैं और कई बार तो व 40 साल की उम्र तक भी अकेले ही बने रहते हैं।

इस शोध में यह भी कहा गया है कि जिन लोगों को प्यार देर से होता है, वह समझदार लोगों की लिस्ट में शामिल होते हैं। इस लिस्ट में वे लोग भी शामिल होते हैं जो अपने प्यार का इजहार करने में हिचकिचाते हैं।

इसके अलावा शोध में यह भी दावा किया गया है कि जो लड़कियां भविष्य में अपने होने वाले पार्टनर से काफी उम्मीदें लगाकर बैठती हैं उन्हें शादी के लिए पार्टनर ढूंढने में काफी परेशानी होती है। उन्हें उसमें हमेशा अपने पार्टनर में कुछ न कुछ खामियां ही नजर आती रहती हैं।

जरूरत से ज्यादा सावधानी :

शोध के अनुसार लड़कियों के जरूरत से ज्यादा अलर्ट रहना भी सही नहीं होता। क्योंकि लड़कियां ऐसे में स्वाभाविक तरीके से व्यवहार नहीं कर पातीं है। वे अकेले रहना ज्यादा पसंद करती हैं। औसत से ज्यादा बुद्धिमान महिलाएं तब तक सिंगल रहने में भलाई समझती हैं, जब तक उन्हें मनचाहा पार्टनर नहीं मिल जाता है।

प्यार के अहसास को नहीं करते स्वीकार :

कहा जाता है कि मोहब्बत में लॉजिक नहीं चलता। लेकिन कुछ बुद्धिमान लोग अपने भीतर आ रही ऐसी फीलिंग्स को स्वीकार नहीं करते। वे हर चीज के पीछे की वजहों को तलाशना शुरु कर देते है। इसीलिए प्यार के चक्कर में पड़ने में उन्हें ज्यादा वक्त लग जाता है।

जरूरत से ज्यादा विश्लेषण :

प्यार के लिए जरूरत से ज्यादा विश्लेषण करना सही नहीं माना जाता है। लेकिन कुछ बुद्धिमान लोग हर छोटी-बड़ी चीज का विश्लेषण करना जरूरी समझते हैं। उन्हें चीजों के बारे में सोचने-समझने और अपनी तरफ से परख करने के बाद ही चैन मिलता है। उनकी इस आदत की वजह से कई बार संभावित पार्टनर भी उन्हें रिजेक्ट कर देता है।