नई दिल्ली : दिव्यांग लोगों को प्रेरित करने के मकसद के साथ नारायण सेवा संस्थान (एनएसएस) 'अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस' की पूर्व संध्या पर रविवार को लाल किले में 'दिव्यांग टैलेंट और फैशन शो' का आयोजन करेगा।

इस कार्यक्रम में कलाकारों के विभिन्न समूह व्हीलचेयर, बैसाखी, कैलिपर और कृत्रिम अंगों के साथ अपने हुनर का प्रदर्शन करेंगे। प्रत्येक दौर में रैंप पर चलने वाले 10 प्रतिभागी मॉडल होंगे। प्रत्येक दिव्यांग मॉडल के साथ उसकी सहायता के लिए एक सक्षम मॉडल भी होगा।

संबंधित तस्वीर
संबंधित तस्वीर

नारायण सेवा संस्थान के प्रवक्ता ओमपाल सिलान ने कहा, "इस कार्यक्रम का आयोजन नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल के सानिध्य में होगा। कार्यक्रम शाम 6 बजे शुरू होगा और इसमें कलाकारों के चार अलग-अलग समूह- व्हीलचेयर, बैसाखी, कैलीपर और कृत्रिम अंग होंगे। इन समूहों ने इससे पहले उदयपुर, सूरत, जयपुर और मोरबी में आयोजित फैशन और टैलेंट शो के दौरान पूरे आत्मविश्वास के साथ प्रदर्शन किया था। हालांकि इन दिव्यांग कलाकारों के लिए यह सब आसान नहीं था, पर उन्होंने इस फैशन और टैलेंट शो में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए अपनी तरफ से हरसंभव प्रयास किए हैं।"

संबंधित तस्वीर
संबंधित तस्वीर

इस तरह के अनूठे फैशन शो के आयोजन के पीछे नारायण सेवा संस्थान का उद्देश्य दिव्यांग लोगों को सशक्त बनाना है, ताकि समाज में उनका समावेशन हो सके और उनकी समानता को सुनिश्चित किया जा सके।

नारायण सेवा संस्थान द्वारा दिव्यांग लोगों को टेलरिंग, मोबाइल मरम्मत, कंप्यूटर और हार्डवेयर कोचिंग कौशल संबंधी प्रशिक्षण भी प्रदान किया जा रहा है।

हाल ही एनजीओ ने पूरे भारत में कृत्रिम अंग मापन और वितरण शिविर का आयोजन किया। इस दौरान मायोइलेक्ट्रिक प्रोस्थेटिक्स के उच्च तकनीक नैदानिक परीक्षण भी किए गए। एनजीओ हर साल 25,000 से अधिक कैलिपर्स और 11,000 मॉड्यूलर कृत्रिम अंग प्रदान करता है।